Weather News Update: मई के दूसरे सप्ताह में भी बनी रहेगी दिल्ली समेत देशभर में हीटवेव से राहत

Weather News Update: मई के दूसरे सप्ताह में भी बनी रहेगी दिल्ली समेत देशभर में हीटवेव से राहत

Weather News Update इस बार मानसून पूर्व गतिविधियों से स्थिति नियंत्रण में है। यहां तक कि पूरे उत्तर भारत में पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों को छोड़ लू का माहौल नहीं बना है। मानसून एक्सप्रेस भी अपनी गति से आगे बढ़ रही है और तय समय पर केरल पहुंच जाएगी।

Jp YadavSun, 09 May 2021 07:13 AM (IST)

नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। मई का पहला सप्ताह तो लू से बचा ही रहा, दूसरे सप्ताह में भी देश के किसी हिस्से में लू चलने की संभावना नहीं है। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में शुष्क और गर्म स्थिति देखी जा सकती है, लेकिन लू से राहत बनी रहेगी। हालांकि हर साल ही मई माह में गर्मी अपने चरम पर होती है और मध्य भारत के हिस्से तो उबल से जाते हैं। लेकिन इस बार मानसून पूर्व गतिविधियों के कारण स्थिति नियंत्रण में है। यहां तक कि पूरे उत्तर भारत में, पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों को छोड़कर, लू का माहौल कहीं नहीं बना है। मानसून एक्सप्रेस भी अपनी गति से आगे बढ़ रही है और तय समय पर केरल पहुंच जाएगी।

गौरतलब है कि लू (हीटवेव) तब घोषित की जाती है जब दिन का तापमान 40 डिग्री या उससे अधिक हो जाता है और सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस अधिक होता है। वैकल्पिक रूप से, लगातार दो या उससे अधिक दिनों के लिए पारा 45 डिग्री तक पहुंचना भी हीटवेव वाली स्थिति है। आमतौर पर गरज और धूल भरी आंधी की गतिविधि ही इससे राहत देती है। लेकिन अत्यधिक गर्मी की मौसमी भविष्यवाणी के विपरीत इस बार मई का महीना देश के कई हिस्सों में प्री-मानसून गतिविधियों का अनुभव कर रहा है।

स्काईमेटर के उपाध्यक्ष महेश पलावत की मानें तो छोटे और मध्यम स्तर के मौसमी चक्रों का मिश्रण हीटवेव वाली स्थितियों से बचाने में मददगार साबित हो रहा है। उत्तर की ओर पश्चिमी विक्षोभ की एक श्रृंखला बनी हुई है जो मैदानी हवाओं और धूल से राहत देने वाले क्षेत्र पर प्रभाव छोड़ते हुए उत्तर और ऊपर की ओर गर्मी को कम कर रही है।

पूर्वोत्तर भारत में पहले दो महीनों की वर्षा की कमी को मिटाते हुए तूफानी मौसम और बारिश हो रही है। दक्षिण प्रायद्वीप ट्रफ के कारण सक्रिय प्री-मानसून देख रहा है। हालांकि केरल और कर्नाटक में थोड़ा अधिक है। छत्तीसगढ़ के साथ महाराष्ट्र (विदर्भ, मराठवाड़ा और मध्य महाराष्ट्र) के सभी उपखंडों में भी आवधिक मौसम गतिविधि के कारण वर्षा अधिशेष है। इन सभी मौसमी गतिविधियों के अगले सप्ताह तक संबंधित क्षेत्रों में बने रहने की संभावना है। इन मौसमी स्थितियों और उनकी अतिव्यापी गतिविधियों के संयुक्त प्रभाव के तहत देश के अधिकांश हिस्सों में हीटवेव की स्थिति अभी जारी नहीं रहेगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.