मेट्रो में सफर कर रहे युवक को ठगों ने कुछ इस तरह से बनाया निशाना, तरीका जानकर रह जाएंगे हैरान

दो ठगों के जाल में फंसकर एक मेट्रो यात्री ने साढ़े चार लाख रुपये गंवा दिए।

एक युवक ने उनसे कहा कि पास में खड़ा युवक अनपढ़ है और अपने मालिक के यहां से छह लाख रुपये चुराकर लाया है। वह पैसों को बैंक में जमा कराना चाहता है लेकिन अनपढ़ है इसलिए बैंक में जमा कराने के बारे में कुछ नहीं जानता।

Vinay Kumar TiwariSun, 11 Apr 2021 12:04 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। दो ठगों की तरफ से बिछाए गए लालच के जाल में फंसकर एक मेट्रो यात्री ने साढ़े चार लाख रुपये गंवा दिए। पीडि़त जितेंद्र सिंह की तरफ से दी गई शिकायत के मुताबिक वे चार अप्रैल को मेट्रो ट्रेन से कीर्ति नगर जा रहे थे। इस दौरान एक युवक ने उनसे कहा कि पास में खड़ा युवक अनपढ़ है और अपने मालिक के यहां से छह लाख रुपये चुराकर लाया है। वह पैसों को बैंक में जमा कराना चाहता है, लेकिन अनपढ़ है इसलिए बैंक में जमा कराने के बारे में कुछ नहीं जानता।

अगर वे (जितेंद्र) चाहें तो अनपढ़ युवक को एटीएम से पर्ची निकालकर दे देंगे और पैसे आधे-आधे बांट लेंगे। इस दौरान युवक ने कपड़े में बंधी नोटों की गड्डियों को भी दिखाया जिनमें पांच-पांच सौ के नोट दिख रहे थे। लालच में आकर जितेंद्र दोनों युवकों के साथ बाराखंभा मेट्रो स्टेशन पर उतर गए और पास में अरुणाचल भवन में स्थित एटीएम बूथ पर चले गए।

वहां, अनपढ़ बने युवक ने पैसे जितेंद्र के बैग में डाल दिए, जबकि इस दौरान दूसरे युवक ने अपना एटीएम कार्ड मशीन में डालकर पर्ची निकालने की कोशिश की, लेकिन कोई पर्ची नहीं निकली, तो उसने जितेंद्र से एटीएम मांगा और पर्ची निकालकर अनपढ़ बने युवक को दे दी।

इसके बाद उसने जितेंद्र से यह कहते हुए मोबाइल मांगा कि वह अनपढ़ युवक को आटो में बिठाकर आता है फिर पैसों का बंटवारा कर लेंगे। इस दौरान जितेंद्र का एटीएम कार्ड और मोबाइल फोन युवक के पास ही थे। काफी देर बाद तक जब युवक लौटकर नहीं आया तो जितेंद्र ने बैग में रखे रुपयों को देखा तो पता चला कि नकली नोट भरे हुए हैं। उसके बाद उन्होंने बैंक खाते की जांच की तो पता चला कि चार लाख 53 हजार 752 रुपये निकाले गए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.