मौत से पहले रोहित ने किसी को किए थे 12 फोन कॉल, जांच में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्ली, जेएनएन। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिवगंत नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। यह अलग बता है कि  मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस किसी नतीजे पर पहुंचने में जल्दबाजी करने के मूड में नहीं है। शनिवार को दिनभर चली पूछताछ में क्राइम ब्रांच ने रोहित की पत्नी अपूर्वा शुक्ला और मां उज्ज्वला सहित परिवार के आठ सदस्यों से आठ घंटे तक गहन पूछताछ की। इसमें रोहित और अपूर्वा के बीच एक महिला के आने से संबंधों में खटास आने की बात सामने आ रही है। वहीं, पत्‍‌नी और मां के विरोधाभाषी बयान से मामला थोड़ा उलझा जरूर है, लेकिन जल्द ही क्राइम ब्रांच इस मामले का पर्दाफाश कर सकती है।

बता दें कि शनिवार सुबह करीब 8:30 बजे क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजत और डीसीपी जॉय टर्की समेत करीब 25 पुलिस अधिकारियों की टीम ने रोहित शेखर के डिफेंस कॉलोनी सी-329 स्थित घर पहुंच कर जांच पड़ताल शुरू की। सीन ऑफ क्राइम पर फोटो कराए जाने के साथ पूरे घर का बारीकी से मूल्यांकन किया गया। उधर रोहित की पत्नी अपूर्वा, मां उज्ज्वला शर्मा, रोहित के बड़े भाई सिद्धार्थ शर्मा, ससुर पीके शुक्ला, घरेलू नौकर गोलू, चालक अभिषेक व एक महिला नौकरानी सहित कुल 8 लोगों से करीब आठ घंटे तक पूछताछ की गई। उनसे करीब 80 सवाल पूछे गए। इसमें खासकर पत्नी अपूर्वा पुलिस की रडार पर रहीं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ की जद में रोहित की पत्नी के अलावा भाई सिद्धार्थ और मां उज्ज्वला भी हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जांच में सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह सामने आया है कि घटना वाले दिन सोमवार की आधी रात रोहित के फोन से एक व्यक्ति को 12 फोन किए गए। लिहाजा पुलिस इस नंबर के अलावा रोहित के फोन से किए गए अन्य 18 नंबरों की काल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) खंगाल रही है। दरअसल प्राथमिक रिपोर्ट में सोमवार की देर रात ही रोहित की हत्या की बात सामने आई है।

इस स्थिति में रोहित के मरने के बाद उनके फोन से फिर किसने फोन किया और क्यों? क्राइम ब्रांच इसकी जांच कर रही है कि वह शख्स कौन है और कॉल करने के पीछे का क्या राज है। इस फोन काल के जरिये पुलिस हत्या की उलझी कड़ियों को जोड़ सकती है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक तीन महत्वपूर्ण कोणों पर पुलिस जांच में जुटी है। शुरुआती जांच में पता चला है कि रोहित की अपने एक करीबी रिश्तेदारी की पत्नी से काफी नजदीकी थी।

इस बात को लेकर अक्सर रोहित और उनकी पत्नी के बीच झगड़ा हुआ करता था। घटना वाले दिन सोमवार की रात भी वह महिला रोहित के साथ उनके घर पर गई थी। आशंका है कि शायद इसी बात पर उस दिन रोहित और उनकी पत्नी में कोई विवाद हुआ हो। इसके बाद रोहित की हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया।

मालूम हो कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रोहित की अप्राकृतिक मौत का पर्दाफाश होने के बाद क्राइम ब्रांच ने इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी है। रोहित-अपूर्वा के बीच तीसरे के आने से बढ़ी खटास रोहित तिवारी की मां उज्ज्वला शर्मा पहले से ही स्वीकार कर रही हैं कि रोहित और अपूर्वा के बीच शादी के बाद से ही मधुर संबंध नहीं थे।

दरअसल संबंध खराब होने की वजह रोहित के एक करीबी रिश्तेदार की पत्‍‌नी है, जिससे उनकी काफी नजदीकी बताई जा रही है। इसे लेकर पति-पत्नी में आए दिन विवाद होता था। वहीं, पुलिस महिला के बारे में ज्यादा जानकारी देने से बच रही है। तफ्तीश में यह भी बात सामने आई है कि घटना वाली रात रोहित के कमरे से आखिरी बार अपूर्वा ही निकली थीं।

मां ने दिया विरोधाभाषी बयान
रोहित की मां उज्ज्वला के विरोधाभाषी बयान से भी पुलिस अधिकारी आशंकित हैं। मां ने घटना के बाद मीडिया को बताया था कि सोमवार की रात उन्होंने रोहित के साथ खाना खाया था। सुबह वह उनसे नहीं मिल सकीं, लेकिन बाद में उन्होंने मंगलवार की सुबह भी रोहित के साथ नाश्ता करने की बात कही थीं। वहीं, पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक उनकी मौत सोमवार की आधी रात ही हो गई थी। इस स्थिति में मां क्या घटना को भूल रही हैं अथवा इसमें कोई और पेच है। क्राइम ब्रांच इन तमाम पहलुओं से तफ्तीश में जुटी है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए क्लिक करें यहां

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.