पंजाब के युवक की हत्या में आ सकता है नया मोड़, जांच में सामने आया परगट सिंह कनेक्शन

निहंगों की ओर से वायरल वीडियो में जिस मोबाइल फोन नंबर की चर्चा लखबीर सिंह ने की थी वह उसके मालिक का निकला है। उधर लखबीर सिंह के परिवार के लोगों ने हत्याकांड की निष्पक्ष जांच की मांग दोहराई है।

Jp YadavSat, 23 Oct 2021 07:56 AM (IST)
पंजाब के युवक की हत्या में आ सकता है नया मोड़, जांच में सामने आया परगट सिंह कनेक्शन

नई दिल्ली/सोनीपत [डीपी आर्य]। दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बार्डर (कुंडली बार्डर) पर 15 अक्टूबर को निहंगों के हाथों बेरहमी से मारे गए लखबीर सिंह की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है इसमें कई नए मोड़ आते जा रहे हैं। हत्याकांड की जांच के दौरान हरियाणा पुलिस के समक्ष परगिट सिंह का कनेक्शन सामने आया है, जिसके खेतों पर लखबीर सिंह बतौर मजदूर काम करता था। दरअसल, निहंगों की ओर से वायरल वीडियो में जिस मोबाइल फोन नंबर की चर्चा लखबीर सिंह ने की थी, वह उसके मालिक का निकला है। लखवीर सिंह उसके यहां पर रहकर खेती का काम करता था। पुलिस को फिलहाल उक्त मोबाइल नंबर का धर्म ग्रंथ की बेअदबी से कोई सीधा संबंध नहीं मिला है। माना जा रहा है कि निहंगों ने जो बयान पुलिस को दिया है और जो वायरल वीडियो में है, वह सच्चाई से कोसों दूर हो सकता है। 

परिवार चाहता है निष्पक्ष जांच

उधर, लखबीर सिंह के परिवार के लोगों ने हत्याकांड की निष्पक्ष जांच की मांग दोहराई है। इसी कड़ी में हरियाणा पुलिस की टीम ने पंजाब के तरनतारन जिले के चीमा खुर्द गांव में लखवीर की पत्नी व बहन के साथ ही उनके रिश्तेदारों से मुलाकात की। परिवार के लोग टीम को कोई खास जानकारी नहीं दे सके। 

कुंडली पुलिस की टीम एसआइ रणबीर सिंह के नेतृत्व में पंजाब गई थी। टीम ने वहां पर मृतक लखबीर के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की। उसके बाद टीम लखबीर के चीमा खुर्द गांव के पड़ोस में हवेलिया गांव में भी पहुंची। वहां पर टीम ने परगट सिंह नाम के व्यक्ति के घर पर जानकारी प्राप्त की। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लखबीर की हत्या से पहले की एक वीडियो निहंगों की ओर से जारी की गई है। उसमें लखबीर लहूलुहान हालत में पड़ा है, उसके पैर बंधे हुए हैं, लेकिन तब तक हाथ नहीं काटा गया है। उसमें लखबीर कह रहा है कि उसको 30,000 रुपये देकर धर्म ग्रंथ की बेअदबी करने के लिए भेजा गया है। वह भेजने वाले का मोबाइल फोन नंबर भी नोट कराता नजर आ रहा है। पुलिस की जांच में सामने आया कि उक्त नंबर पंजाब के हवेलिया गांव के रहने वाले परगट सिंह का है। उनके यहां पर लखबीर सिंह कई साल से खेती का काम करता था।

डर से कबूली थी 30,000 रुपये मिलने की बात

पुलिस टीम ने परगट सिंह के परिवार के लोगों से बातचीत की हैं। अभी तक की जांच में उनका सीधा संबंध धर्म ग्रंथ की बेअदबी से नहीं मिला है। पुलिस का मानना है कि निहंगों की मार से भयभीत और मौत की धमकी से डरे लखबीर ने अपना पीछा छुड़ाने के लिए ही 30 हजार रुपये में भेजने की बात कही और परगट सिंह का मोबाइल नंबर दे दिया। उसको परगट सिंह का नंबर याद था। हालांकि अभी तक पुलिस ने परगट सिंह को क्लीनचिट नहीं दी है। पुलिस ने परगट सिंह के मोबाइल की काल डिटेल निकलवाई है, जिससे मामले की तह तक पहुंचा जा सके।

साजिश का शक, लखबीर नहीं कर सकता था धर्मग्रंथ की बेअदमी

पुलिस के अनुसार लखबीर के परिवार के सदस्य व उसके रिश्तेदार भी गरीब हैं। आपस में विवाद होने के बावजूद वह लखबीर की मौत से हतप्रभ हैं। उन्होंने बताया कि लखबीर अकेले कुंडली तक नहीं जा सकता है। उसको कोई लेकर गया होगा। उसको किसी साजिश के तहत सोनीपत ले जाया गया है और वहां पर उसकी हत्या कर दी गई। लखबीर किसी हाल में धर्मग्रंथ की बेअदबी नहीं कर सकता है।

पंजाब में ही है जांच की एक टीम

पुलिस सूत्रों की मानें तो उन्होंने लखबीर के आसपास रहने वालों, गांव के सम्मानित लोगों और परगट सिंह के आसपास रहने वालों व उनके गांव के सरपंच आदि के बयान लिए हैं। पुलिस ने अभी बयानों की जानकारी देने से इंकार कर दिया है। वहीं साफ किया है कि अभी तक धर्मग्रंथ से बेअदबी करने के लिए किसी के लखबीर को भेजने के साक्ष्य नहीं मिले हैं। अभी पुलिस की एक दूसरी टीम पंजाब में ही ठहरी हुई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.