घर में संभव नहीं बाहर से किसी का प्रवेश, फिर कैसे हो गया डबल मर्डर, पढ़ें- हत्या की Inside Story

किर्गिस्तानी महिला के शरीर पर पांच बार चाकू से वार के निशान हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि घर में मौजूद सभी युवक और युवतियों ने नशा किया था। सुबह के समय तक वह नशे में ही थे। इस दौरान ही वारदात हुई है।

Mangal YadavWed, 22 Sep 2021 07:05 AM (IST)
मृत मिली किर्गिस्तानी महिला माइस्कल की फाइल फोटोः जागरण

नई दिल्ली [गौरव बाजपेई]। कालकाजी इलाके में मृत मिली किर्गिस्तानी महिला के शरीर पर पांच बार चाकू से वार के निशान हैं। पुलिस ने मौके से वारदात में इस्तेमाल चाकू बरामद कर लिया है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक घरेलू इस्तेमाल के चाकू से महिला पर वार किए गए हैं। जांच में शामिल अधिकारी ने बताया कि महिला के सीने पर दो बार चाकू मारा गया है। जबकि तीन वार शरीर के ऊपरी हिस्से में ही किए गए हैं। मासूम पर भी चाकू से दो बार हमला किया गया है।

दक्षिण-पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त राजेन्द्र प्रसाद मीणा ने बताया कि घटना के वक्त घर में मत्लुबा उसका दोस्त अविनाश और एक अन्य युवती साइमा मौजूद थी। अपने बयान में मत्लुबा ने बताया कि वह अपने दोस्त के साथ दूसरे कमरे में थी जबकि माइस्कल अपने बेटे के साथ दूसरे कमरे में थी। सुबह बहुत देर तक माइस्कल अपने कमरे से बाहर नहीं निकली तो उन्होंने दरवाजा खटखटाया और आखिर में धक्का देकर कमरे में पहुंची तो माइस्कल और मानस दोनों मृत पड़े थे। इसके बाद उन्होंने विनय को घटना की जानकारी दी।

घर में संभव नहीं है बाहर से प्रवेश

मत्लुबा कालकाजी के ब्लाक की बी- 22 के दूसरे तल पर रहती है। मत्लुबा के फ्लैट में प्रवेश के लिए कोई दूसरा रास्ता नहीं है। ऐसे में किसी बाहरी व्यक्ति के घटना में शामिल होे की आशंका नहीं है। वहीं, इमारत के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं। हालांकि मत्लुबा तीन माह पहले ही इस इमारत में रहने आइ थी इसलिए आसपास के लोग अधिक परिचित नहीं हैं। पड़ोसियों ने सोमवार सुबह कुछ महिलाओं को इमारत में आते देखा था।

नशा भी हो सकता है वारदात की वजह

जांच में जुटे पुलिस अधिकारी ने बताया कि घर में मौजूद सभी युवक और युवतियों ने नशा किया था। सुबह के समय तक वह नशे में ही थे। इस दौरान ही वारदात हुई है। मामले में मनोवैज्ञानिक गुरविंदर अहलूवालिया बताती हैं कि अधिक तीव्रता वाले नशे हमारे शरीर के रासायनिक तत्वों से प्रभावित करता है। ऐसे में संभावना है कि नशा करने वाला व्यक्ति अधिक दुख का अनुभव करे या डिप्रेशन और गुस्से का सामना करे। ऐसे में हत्या या आत्महत्या जैसे कदम की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

ढाई बजे तक जागते रहे दोस्त, नहीं सुनी झगड़े की आवाज

पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि तीनों अपने कमरे में करीब रात 2.30 बजे तक जागे हुए थे जिसके बाद वह सो गए। लेकिन उन्होंने साथ वाले कमरे में कोई चीख या फिर झगड़े की आवाज नहीं सुनी, जिससे उन्हें लगता कि माइस्कल के कमरे में कुछ गलत हो रहा है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि घाव देखकर लग रहा है कि पुलिस को सूचना देने से करीब 5-6 घंटे पहले हत्या की गई है क्योंकि खून सूखने लगा था। पुलिस ने मृतका माइस्कल के पति समेत पांच लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस अब सभी की सीडीआर और इलाके का डंप डाटा निकालने की तैयारी में हैं जिससे स्पष्ट हो सके कि वारदात के समय कौन कौन कहां कहां मौजूद था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.