दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के कार्यो की प्रधानमंत्री ने की समीक्षा, अप्रैल में खोलने की तैयारी

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के कार्यो की बुधवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समीक्षा की।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के कार्यो की बुधवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समीक्षा की। एनएचएआइ (नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया) के सचिव के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने इस बैठक में हिस्सा लेते हुए अब तक हुए कार्यो का विवरण पेश किया।

Vinay Kumar TiwariThu, 25 Feb 2021 02:41 PM (IST)

जागरण संवाददाता, दिल्ली/गाजियाबाद। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के कार्यो की बुधवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समीक्षा की। एनएचएआइ (नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया) के सचिव के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने इस बैठक में हिस्सा लेते हुए अब तक हुए कार्यो का विवरण पेश किया। 

एनएचएआइ के अफसरों ने बताया कि प्रोजेक्ट के कार्यो को लेकर प्रधानमंत्री ने संतोष जताया। इस प्रोजेक्ट में आ रहीं अड़चनों को दूर कर दिया गया है। बैठक में संकेत मिले हैं कि इस एक्सप्रेस-वे को वाहनों के लिए अप्रैल के पहले सप्ताह में खोल दिया जाएगा। 

एनएचएआइ के अफसरों ने प्रधानमंत्री को अवगत कराया कि चिपियाना रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण में समय लगेगा। एनएचएआइ ने इसको पूरा करने के लिए दिसंबर तक की मोहलत मांगी, जो मिल गई है। आरओबी निर्माण कार्य के साथ इस एक्सप्रेस-वे को तकनीकी तौर पर वाहनों के लिए खोला जा सकता है। बैठक में रेलवे के अफसरों ने चिपियाना आरओबी एवं डासना आरओबी के लंबित डिजायन को मंजूरी दे दी है।

चिपियाना आरओबी के लिए गार्डर डालने के लिए रेलवे ट्रैक को ब्लाक करने की मंजूरी शेष रह गई है। एनएचएआइ द्वारा प्रस्तावित तिथियों के अनुसार रेलवे ने ब्लाक के लिए सहमति देने का वादा कर दिया है। 82 किलोमीटर लंबे और छह लेन चौड़े इस एक्सप्रेस-वे की कुल लागत 4,974 करोड़ रुपये है। दो चरणों का काम पूरा होने के बाद वाहन दौड़ रहे हैं तो दो चरणों का काम अंतिम चरण में हैं। 

तीन स्थानों पर बचा है काम 

प्रोजेक्ट का मुख्य रूप से केवल तीन स्थानों पर काम बचा हुआ है। चिपियाना आरओबी का काम बचा हुआ है। डासना आरओबी के गार्डर डल चुके हैं। एलिवेटेड रोड इसी आरओबी पर टिका है। महरौली में तीन सौ मीटर लंबी सड़क निर्माण का काम अवशेष है जो एक महीने में बन जाएगी। समीक्षा बैठक में एनएचएआइ ने अवगत कराया कि 31 मार्च तक चिपियाना आरओबी के कार्य को छोड़कर शेष कार्य पूरे हो जाएंगे। 

केंद्रीय राज्यमंत्री ने भी ली बैठक 

अक्षरधाम से बागपत तक बनने वाले 709बी दिल्ली-सहारनपुर राजमार्ग का कार्य शुरू करने एवं लोनी के विकास को लेकर केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह ने भी बुधवार को दिल्ली में कई विभागों के अफसरों के साथ बैठक की। उन्होंने सिग्नल फ्री बागपत हाईवे का काम जल्दी शुरू करने के निर्देश एनएचएआइ के अफसरों को दिए हैं। उन्होंने समन्वय बनाकर विकास कार्य करने की अपील अफसरों से की है। 

प्रधानमंत्री ने की समीक्षा, जताया संतोष 

प्रोजेक्ट के अब तक हुए कार्यो एवं अवशेष कार्यो की समीक्षा प्रधानमंत्री द्वारा बुधवार को प्रधानमंत्री कार्यालय दिल्ली में की गई है। एनएचएआइ, रेलवे, लोक निर्माण, यूपीपीसीएल के उच्च अफसरों ने बैठक में हिस्सा लिया। चिपियाना आरओबी का काम पूरा करने के लिए दिसंबर तक की मोहलत मांगी गई है, लेकिन एक्सप्रेस-वे के शेष कार्यो को 31 मार्च तक पूरा करने के साथ ही अप्रैल में एक्सप्रेस-वे को चालू करने की तैयारी है। यूपी जल निगम ने गंगा जल की पाइपलाइन डालने के लिए आठ करोड़ का भुगतान कर दिया है। (-मुदित गर्ग, परियोजना निदेशक एनएचएआइ)

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.