Delhi Metro Service News: पढ़िये- ऐसा क्या हुआ जो सोमवार सुबह थम गई दिल्ली मेट्रो की रफ्तार

दिल्ली में सोमवार से फिर 100 फीसद सीट क्षमता के साथ मेट्रो रफ्तार भर रही है। मेट्रो अधिकारियों ने कहा कि ट्रेनें पूरी सीट क्षमता के साथ परिचालित हों रही हैं लेकिन खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं है।

Jp YadavMon, 26 Jul 2021 07:58 AM (IST)
Delhi Metro Service Guidelines: खड़े होकर सफर पर रोक जारी, कोच में 50 लोग कर रहे सफर; पढ़िये- पूरी गाइडलाइन

नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने आखिरकार अपने लाखों यात्रियों को अब तक की सबसे बड़ी राहत प्रदान कर दी है। इसके बाद मेट्रो में बैठने की पूरी क्षमता के साथ ट्रेनों का परिचालन सोमवार सुबह से शुरू हो गया है। इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो रेल निगम के आदेश के मुताबिक, सोमवार से स्टेशनों पर एक-एक अतिरिक्त गेट खोल रहे हैं। इसमें से ब्लू लाइन के आठ, यलो लाइन के सात व वायलेट लाइन का एक स्टेशन शामिल है। अन्य स्टेशनों पर पहले की तरह निर्धारित गेटों से ही प्रवेश मिल रहा है। वहीं,  दिल्ली मेट्रो से मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार सुबह करीब 6.42 बजे हल्के झटके की पुष्टि हुई। एक मानक प्रक्रिया के रूप में ट्रेनों को सतर्क गति से चलाया गया और अगले प्लेटफॉर्म पर तैनात किया गया। सेवाएं अब सामान्य रूप से चल रही हैं।

मेट्रो के 16 स्टेशनों पर खुले अतिरिक्त गेट

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लगाए गए लॉकडाउन के बाद सोमवार से बसों और मेट्रो में यात्री सभी सीटों पर बैठकर यात्रा कर कर रहे हैं। इस दौरान खड़े होकर यात्र करने की अनुमति नहीं दी गई है। इस तरह दिल्ली मेट्रो के हर कोच में 50 य़ात्री ही बैठकर सफर कर पा रहे हैं। 

यहां खुले अतिरिक्त गेट

ब्लू लाइन- उत्तम नगर पूर्व, जनकपुरी पश्चिम, द्वारका मोड़, करोल बाग, वैशाली, नोएडा सेक्टर 18, नोएडा सेक्टर 62 व नोएडा सिटी सेंटर

येलो लाइन- आजादपुर, माडल टाउन, जीटीबी नगर, कश्मीरी गेट, केंद्रीय सचिवालय, ग्रीन पार्क व एमजी रोड मेट्रो स्टेशन।

वायलेट लाइन- गोविंदपुरी।

आटो-टैक्सी चालक नाराज

डीडीएमए ने शनिवार को ऑटो, टैक्सी, ग्रामीण सेवा और ई-रिक्शा को पूरी क्षमता से यात्री बैठाने की अनुमति नहीं दी है। ऑटो, टैक्सी, ई रिक्शा, कैब, ग्रामीण सेवा और फटफट सेवा में अभी दो यात्री ही बैठाए जा सकते हैं। आल दिल्ली आटो टैक्सी ट्रांसपोर्ट कांग्रेस यूनियन के अध्यक्ष किशन वर्मा ने डीडीएमए द्वारा आटो टैक्सी वालों को छूट न देने के फैसले को गलत बताया है। ग्रामीण सेवा यूनियन के महामंत्री चंदू चौरसिया ने कहा है कि डीडीएमए का नया आदेश उनके साथ नाइंसाफी है। डीटीसी बसों और मेट्रो में सभी सीटों पर यात्री बैठाने की अनुमति दे दी है, जबकि उनके साथ सौतेला व्यवहार किया गया है।

यह भी पढ़ेंः मुफ्त बिजली पर केजरीवाल के मंत्री और गोवा के ऊर्जा मंत्री के बीच हुई LIVE Debate, जानें कौन किस पर पड़ा भारी

जिस ट्रैक्टर से राहुल गांधी जा रहे थे संसद भवन, पुलिस ने किया जब्त; सुरजेवाला समेत 10 नेता हिरासत में

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.