लाल किला के बस स्‍टैंड पर बना दी पार्किंग, अवैध तरीके से वाहन खड़े होने से लोग परेशान

लाल किला का बस स्टैंड पार्किंग स्थल बनने से लोग परेशान हैं। लोगों को बस पकड़़ने के लिए जान जोखिम में डालकर मुख्‍य सड़़क तक आना-जाना पड़ रहा है। भीड होने से हादसे का खतरा भी है। ट्रैफिक पुलिस भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

Ppradeep ChauhanSun, 19 Sep 2021 12:31 PM (IST)
लाल किला का बस स्टैंड को बनाया वाहनों की पार्किंग।

नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। लाल किला का बस स्टैंड इन दिनों पार्किंग स्थल में तब्दील हो गया है। यहां लोग अवैध तरीके से अपने वाहन खड़ा कर रहे हैं। इससे रोजाना जाम की समस्‍या रहती है। ऐसे में लोगों का पैदल आना-जाना भी मुश्किल हो रहा है। बस स्‍टैंड की जगह पार्किंग स्‍थल बनने ओर उसमें अवैध तरीके से वाहन खड़े होने से बस भी नहीं आ पा रही है। लोगों का आरोप है कि उन्‍हें बस पकड़ने के लिए जान जोखिम में डालकर मुख्‍य सड़क तक पैदल आना-जाना पड़ता है। भीड होने से हादसे का खतरा भी है।

लोगों का कहना है क‍ि स्टैंड पर बस निकलने की जगह नहीं है। वहीं, फुटपाथ पर पैदल चलने वालों को भी परेशानी हो रही है। बसें स्टैंड पर न रुक कर बाहर सड़क पर रुक रही हैं। आटो रिक्शा भी आधी सड़क को घेर कर खड़े रहते हैं। इससे लोगों को बस पकड़ने और उतरने में मुश्किल हो रही है। लोगों ने बताया कि यह समस्या एक महीने से बनी हुई है। लाल किले के पास ट्रैफिक पुलिस भी रहती है, लेकिन इन लोगों का चालान नहीं काटा जा रहा है। अवैध पार्किग की वजह से सड़क पर जाम की समस्या बन रही है। लोग जान हथेली पर रखकर बस पकड़ने के लिए चलती सड़क पर भागते दिखे। इससे कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है।

कालकाजी जाने के लिए बस पकड़ रहे मनोज ने बताया कि मेरे साथ छोटे-छोटे बच्चे हैं। बस चालाक बस को बीच सड़क पर रोक रहे हैं। ऐसे में मैं बच्चों के साथ कैसे बस में बैठूं। यहां बस पकड़ना काफी खतरनाक है। रामनाथ ने बताया कि बस रोकने की जगह पर गाड़िया खड़ी कर दी गई हैं।

गाड़ी खड़ी करने वाले तो यहां पार्किंग करके चले जाते हैं, लेकिन दिक्कत तो आम लोगों को हो रही है। हम किसके पास शिकायत करने जाएं। बस की तरफ जाते हैं, तो डर लगता है, कहीं पीछे से कोई गाड़ी टक्कर न मार दे। इस स्टैंड की सबसे बुरी स्थिति हो रखी है। वहीं, आफिस जा रहे शंकर ने बताया कि मैं रोज यहां से बस पकड़ता हूं। कई बार मैं बस के लिए भागते हुए गिरा भी हूं। कोई सुनने वाला नहीं। यहां इतनी सारी गाड़ियां खड़ी हुई हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.