दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Ram Mandir In Ayodhya: अनिवासी भारतीय भी राम काज करने के लिए दिख रहे हैं आतुर

अनिवासी भारतीय भी श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में योगदान देने के लिए उत्साहित हैं।

Ram Mandir In Ayodhyaअनिवासी भारतीयों की राम मंदिर निर्माण में सहयोग देने की भावना को ध्यान में रखकर श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने गृह मंत्रालय से फारेन कंटिब्यूशन एक्ट में राहत देने का अनुरोध करते हुए पत्र लिखा है। इस मामले में गृह मंत्रालय का रुख सकारात्मक है।

JP YadavThu, 04 Mar 2021 10:40 AM (IST)

नई दिल्ली [नेमिष हेमंत]। दुनियाभर में फैले अनिवासी भारतीय भी श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में योगदान देने के लिए उत्साहित हैं। हालांकि, विदेशी अनुदान प्राप्त करने से संबंधित नियमों के चलते वे योगदान नहीं कर पा रहे हैं। अनिवासी भारतीयों की राम मंदिर निर्माण में सहयोग देने की भावना को ध्यान में रखकर श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने गृह मंत्रालय से फारेन कंटिब्यूशन एक्ट (एफसीआरए) में राहत देने का अनुरोध करते हुए पत्र लिखा है। मामले के एक जानकार के मुताबिक इस मामले में गृह मंत्रालय का रुख सकारात्मक है।

वहीं, विहिप के केंद्रीय कार्याध्यक्ष व निधि समर्पण अभियान के संयोजक एडवोकेट आलोक कुमार ने इस संबंध में पूछे जाने पर बताया कि अगस्त से जमीन के ऊपर मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की तरफ से देशभर में चले निधि समर्पण अभियान में लक्ष्य से अधिक सहयोग राशि प्राप्त हो चुकी है, चूंकि यह आस्था से जुड़ा विषय है, ऐसे में अनिवासी भारतीय भी इसमें अपना योगदान देना चाहते हैं। लेकिन, मंदिर निर्माण के लिए बना ट्रस्ट तीन वर्ष पुराना नहीं है इस वजह से विदेश से इसके लिए सहयोग राशि नहीं स्वीकार की जा सकती। ऐसे में ट्रस्ट ने गृह मंत्रलय को पत्र लिखकर विदेश में बसे भारतीयों की धार्मिक आस्था का ध्यान रखते हुए एफसीआरए के नियमों में छूट देते हुए सहयोग राशि प्राप्त करने की अनुमति देने का आग्रह किया है।

निधि समर्पण अभियान पूर्ण, विहिप ने ज्ञापित की कृतज्ञता

आलोक कुमार ने कहा कि लाखों समर्पित कार्यकर्ताओं ने देशभर में अभियान को सफलतापूर्वक पूर्ण किया। विहिप हिंदू समाज के इस उदारता, समरसता व एकात्मता से भरे पूर्ण समर्पण के प्रति अपनी कृतज्ञता ज्ञापित करती है।

रसीदें लौटाने का अनुरोध

विहिप की तरफ से आलोक कुमार ने दिल्ली समेत तमाम राज्यों के स्वयंसेवकों से निधि समर्पण अभियान की रसीदें विहिप कार्यालय में जमा कराने का अनुरोध करते हुए कहा है कि जो लोग निधि समर्पण से वंचित रह गए हैं, वे बैंक के माध्यम से सीधे ट्रस्ट के खाते राशि जमा करा सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.