top menutop menutop menu

पत्रकार मौत केस: एम्स ट्रामा सेंटर के चिकित्सा अधीक्षक हटाए गए

नई दिल्ली जागरण संवाददाता। पत्रकार तरुण सिसोदिया की मौत के मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने एम्स ट्रॉमा सेंटर के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अमित लथवाल को हटाने का आदेश दिया है। एम्स द्वारा गठित जांच कमेटी की रिपोर्ट मिलने के बाद यह कार्रवाई की गई। इसके साथ ही एक कमेटी गठित कर प्रशासनिक खामियों की रिपोर्ट तैयार करने को कहा है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि इलाज में लापरवाही की बात जांच में सामने नहीं आई है।

अमित का उपचार प्रोटोकॉल के अनुसार रहा था, लेकिन प्रशासनिक खामियों को ध्यान में रखते हुए मंत्रालय ने यह कार्रवाई की है। एम्स में पहली बार किसी मामले में इस तरह की कार्रवाई की गई है। यही नहीं सूत्रों की मानें तो आने वाले दिनों में एम्स में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल हो सकता है। डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा है कि उन्होंने विशेषज्ञों की एक कमेटी बनाने का भी निर्देश दिया है।

यह कमेटी एम्स में प्रशासनिक व्यवस्था की खामियों की रिपोर्ट तैयार कर 27 जुलाई को रिपोर्ट सौंपेगी। यह कमेटी मंत्रालय से यह सिफारिश करेगी कि एम्स की व्यवस्था में सुधार के लिए किस तरह के प्रशासनिक बदलाव किए जाने की जरूरत है। हाल के दिनों में एम्स ट्रॉमा सेंटर में कई घटनाएं हुई हैं, जिसमें प्रशासनिक लापरवाही की बात समाने आई है। तीन दिन पहले कोरोना से संक्रमित दो महिलाओं की मौत के बाद शव की अदला-बदली का मामला भी आया था। इन घटनाओं से एम्स की काफी किरकिरी हुई है।

डीसीपी दक्षिणी पश्चिमी देवेंद्र आर्या  के मुताबिक, भजनपुरा में रहने वाले तरुण सिसोदिया एम्स ट्रामा सेंटर की पहली मंजिल पर स्थित टीसी-1 आईसीयू वार्ड में भर्ती थे। सोमवार दोपहर करीब 1:55 बजे वह वहा से उठकर बाहर भागने लगे। उन्हें भागते देख नर्सिंग स्टाफ ने उन्हें रोकने का प्रयास किया, लेकिन इससे पहले उन्हें कोई पकड़ पाता। उन्होंने चौथी मंजिल की खिड़की तोड़कर वहा से छलाग लगा दी। गंभीर अवस्था में उन्हें अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती किया गया।

उपचार के दौरान उन्होंने 3:35 बजे दम तोड़ दिया। बताया गया है कि उन्होंने सुसाइड से पहले अपने पड़ोस में रहने वाले दोस्तों को मेसेज किया था। अस्पताल प्रशासन ने सोमवार देर शाम विज्ञप्ति जारी कर बताया कि कोरोना संक्रमित तरुण सिसोदिया गत 24 जून से एम्स ट्रामा सेंटर के आइसीयू वार्ड में भर्ती थे। वर्तमान में उनकी हालत में काफी सुधार हो रहा था। वह खुद से सास ले रहे थे। उन्हें आइसीयू वार्ड से सामने वार्ड में शिफ्ट करने की तैयारी थी। सोमवार को उन्होंने एम्स ट्रामा सेंटर की चौथी मंजिल से छलाग लगा दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.