top menutop menutop menu

Nizamuddin Markaz: दिल्ली के दामन में छिपाए जा रहे कोरोना के कांटे, विदेशों के लिए भी बने मुसीबत

नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। कोरोना के संक्रमण का संकट खड़ा करने वाले तब्लीगी जमाती देश ही नहीं विदेशों के लिए भी बड़ी मुसीबत बने हुए हैं। जमाती खुद आगे आकर अपनी पहचान बताने के बजाय पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम से छिप रहे हैं। नतीजतन संक्रमण का दायरा बढ़ता ही जा रहा है। वहीं पुलिस लगातार इनसे सामने आकर टेस्ट कराने की अपील कर रही है।

सोमवार की शाम मध्य दिल्ली के चांदनी महल में स्थित मस्जिदों व होटलों में छिपे 102 जमातियों को ढूंढ पुलिस ने गुलाबी बाग स्थित क्वारंटाइन सेंटर में भेज दिया।

मस्जिदों व होटलों से ढूंढे गए 65 विदेशी और 37 भारतीय

पुलिस सूत्रों के मुताबिक चांदनी महल इलाके से 65 विदेशी नागरिकों व 37 भारतीय को निकाला गया है। इसमें मलेशिया, अफगानिस्तान, म्यामार, अल्गेरिया, इंडोनिशिया, थाइलैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश, इंगलैंड, सिंगापुर, फ्रांस व कुवैत आदि देशों के रहने वाले हैं। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं, ये सभी तब्लीगी मरकज के प्रमुख मौलाना साद के निमंत्रण पर मरकज में होने वाले विशेष आयोजन में शामिल होने आए थे। इसके बाद से दिल्ली के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में मस्जिदों, मदरसों व होटलों के अलावा स्थानीय लोगों के घरों में ठिकाना बनाए हुए थे।

राजधानी के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छिपे सैकड़ों जमाती

28 मार्च को मरकज में लोगों के ठहरे होने की बात सामने आने के बाद से लगातार जमातियों की तलाश की जा रही है। जमातियों के बारे में जैसे-जैसे पता लग रहा हे। पुलिस उन्हें क्वारंटाइन कर रही है। जमातियों के बारे में सूचना एकत्र करने के लिए पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के अलावा स्पेशल सेल, खुफिया जानकारी जुटाने वाली स्पेशल ब्रांच सभी जिलों की पुलिस को जिम्मेदारी सौंपी है। यही नहीं लॉकडाउन के दौरान आने जाने के लिए दिल्ली के प्रत्येक थाने को डीटीसी की एक-एक बस दी गई। चांदनी महल से 102 जमातियों के मिलने से पुलिस को शक है कि दिल्ली के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में अभी भी सैकड़ों जमाती छिपे हो सकते हैं।

चार दिन पहले वजीराबाद की मस्जिद में जमातियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। उसके बाद उत्तरी जिले की सभी मस्जिदों व मदरसों की जब जांच की गई, तब बाड़ा हिंदू राव, सराय रोहिल्ला के इंद्रलोक व सदर बाजार की मस्जिदों में करीब 10 जमाती मिले। उक्त सूचना के बाद दिल्ली के सभी जिलों के डीसीपी को निर्देश दिए गए कि वे सभी मस्जिद व मदरसे की जांच कराएं। इससे अब मस्जिदों से जमाती पकड़े जा रहे हैं। इन्हें क्वारंटाइन में भेजने के अलावा इनके खिलाफ पुलिस सरकारी आदेश का पालन न करने की धारा में एफआइआर भी दर्ज कर रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.