दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कर्मचारियों की हड़ताल से बढ़ रही परेशानी, वेतन के फंड को लेकर जारी है जंग

जोन कार्यालयों के गेट के बाहर वाहनों से कूड़ा लाकर डाल दिया गया।

सात जनवरी से निगम के कर्मचारियों की हड़ताल चल रही है। शुरुआती दिनों में तो हड़ताल का असर देखने को नहीं मिल रहा था लेकिन धीरे-धीरे सारे कर्मी एकजुट होते जा रहे हैं। सफाई कर्मचारियों ने भी काम बंद कर दिया है।

Prateek KumarFri, 22 Jan 2021 02:10 PM (IST)

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कर्मचारियों की चल रही हड़ताल की वजह से लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रिहायशी क्षेत्रों में कूड़े के ढेर अब पहाड़ का रूप लेते जा रहे हैं। 10-12 फीट के कूड़े के ढेर विभिन्न क्षेत्रों में देखने को मिल रहे हैं। डलाव घरों के आसपास सड़कों पर कूड़ा बिखरा पड़ा है। इससे यहां से गुजरने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बृहस्पतिवार को निगम कर्मचारियों ने हड़ताल को लेकर निगम के जोन कार्यालयों पर एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। जोन कार्यालयों के गेट के बाहर वाहनों से कूड़ा लाकर डाल दिया गया।

इससे मजबूरन जोन कार्यालयों के गेट को बंद करना पड़ा। उल्लेखनीय है कि सात जनवरी से निगम के कर्मचारियों की हड़ताल चल रही है। शुरुआती दिनों में तो हड़ताल का असर देखने को नहीं मिल रहा था, लेकिन धीरे-धीरे सारे कर्मी एकजुट होते जा रहे हैं। सफाई कर्मचारियों ने भी काम बंद कर दिया है। इसकी वजह से रिहायशी इलाकों से लेकर बाजारों में जगह-जगह कूड़े के ढेर लग गए हैं, वहीं निगम के कस्तूरबा, हिंदूराव और राजन बाबू अस्पताल में पैरामेडिकल स्टाफ की वजह से मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शिक्षकों ने भी आनलाइन कक्षाएं लेनी भी बंद कर दी हैं।

कन्फेडरेशन आफ एमसीडी एंपलाइज यूनियंस के संयोजक एपी खान ने कहा कि हमारा जनता से कोई बैर नहीं है। निगम के कर्मचारी पांच-पांच माह से बिना वेतन के कार्य कर रहे हैं। ऐसे में उनका घर चलाना मुश्किल हो गया है। इसलिए जब तक कर्मचारियों को बकाया वेतन और सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन का भुगतान नहीं हो जाता तब तक यह हड़ताल जारी रहेगी।

दिल्ली सरकार ने 938 करोड़ रुपये निगमों को जारी करने की घोषणा की थी। अब तक फंड निगम के पास नहीं आया है। दिल्ली सरकार की ओर से फंड जारी न करने की वजह से निगम के कर्मचारियों को हड़़ताल करनी पड़ रही है। वे कर्मचारियों से अपील करते हैं कि हड़ताल छोड़ें। वे उनके मुद्दों को सुलझाने के लिए प्रयासरत हैं।

जय प्रकाश, महापौर, उत्तरी दिल्ली

दिल्ली सरकार फंड जारी कर चुकी है। महापौर अपने खाते चेक करवाएं। अधिकारी कह रहे हैं कि फंड आ गया है। उत्तरी निगम को 400 करोड़ रुपये के आसपास का फंड जारी हुआ है।

विकास गोयल, नेता प्रतिपक्ष, उत्तरी निगम

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.