Delhi MCD Mayor Election : महापौर व उपमहापौर के लिए 5 नाम सबसे आगे, कई नेता भी लगा रहे जुगाड़

शुक्रवार को हुई कोर ग्रुप की बैठक में आखिरी के पांच नामों पर मंथन हो चुका है।

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश नेतृत्व पर वर्तमान महापौर व उप महापौर को दोबारा एक मौका देने का भी दवाब है। क्योंकि तीनों महापौर यह भी स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्हें लाकडाउन की वजह से तीन माह देरी से जिम्मेदारी मिली थी। कम समय में अच्छा काम करके दिखाया है।

Mangal YadavSun, 18 Apr 2021 09:32 AM (IST)

 नई दिल्ली निहाल सिंह। राजधानी के नगर निगमों में महापौर व उप महापौर के लिए भाजपा नए चेहरों पर दाव लगाएगी या पुरानों को दोबारा मौका मिलेगा। इसका पता 19 तारीख को लगेगा। सोमवार को नामांकन का आखिरी दिन हैं। जो भी भाजपा पार्षद महापौर व उप महापौर के लिए नामांकन करेगा उसी का महापौर व उप महापौर बनना तय है। प्रदेश भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा करें इससे पहले पार्षद अपने-अपने आकाओं की गणेश परिक्रमा कर रहे हैं। शुक्रवार को हुई कोर ग्रुप की बैठक में आखिरी के पांच नामों पर मंथन हो चुका है। अब प्रदेश नेतृत्व को ही आखिरी फैसला लेना है।

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश नेतृत्व पर वर्तमान महापौर व उप महापौर को दोबारा एक मौका देने का भी दवाब है। क्योंकि तीनों महापौर यह भी स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्हें लाकडाउन की वजह से तीन माह देरी से जिम्मेदारी मिली थी। ऐसे में उन्होंने कम समय में अच्छा काम करके दिखाया है। इसलिए उन्हें दोबारा मौका दिया जाना चाहिए। लेकिन, प्रदेश नेतृत्व अगले वर्ष होने वाले निगम के आम चुनाव को देखते हुए सभी समीकरणों को देखकर फैसला लेना चाहता है।

इसलिए महापौर और उप महापौर पद वर्तमान महापौर या फिर पूर्व में महापौर या निगम में विभिन्न पदों पर रहे नेताओं का दांव लग सकता है। दक्षिणी निगम की बात करें तो वर्तमान के महापौर अनामिका, नेता सदन नरेंद्र चावला या स्थायी समिति अध्यक्ष राजदत्त गहलोट को मौका दे सकता है। अगर, समीकरणों में बदलाव होता है तो महापौर पद की दौड़ में नंदिनी शर्मा और तुलसी जोशी, कर्नल बीके आबराय में से कोई भी दौड़ में बाजी मार सकता है।

उत्तरी निगम में वर्तमान महापौर जय प्रकाश को फिर से मौका मिल सकता है। अगर, वह प्रदेश नेतृत्व के समीकरणों पर फिट नहीं बैठते हैं तो नेता सदन योगेश वर्मा, स्थायी समिति अध्यक्ष छैल बिहारी गोस्वामी, उप महापौर ऋतु गोयल, केशवपुरम जोन के चेयरमैन जोगीराम जैन, रोहिणी जोन के पूर्व चेयरमैन मनीष चौधरी, वर्तमान चेयरमैन आलोक शर्मा में किसी एक को मौका मिल सकता है।

उल्लेखनीय है कि उत्तरी निगम में 27 तो दक्षिणी निगम में 28 अप्रैल को महापौर व उप महापौर पद के लिए चुनाव होना है। इन पदों के लिए भाजपा ने सांसदों से लेकर नेता प्रतिपक्ष और जिलाध्यक्षों से रायशुमारी की है। सभी से निगम के प्रमुख पदों के तीन-तीन पार्षदों के नाम लिए हैं। जिसके बाद कोर ग्रुप ने चर्चा की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.