Delhi Weather News Update: 1964 के बाद से दिल्ली में दर्ज हुई मानसून की सबसे अधिक बारिश

दिल्ली में बृहस्पतिवार दोपहर तक 1159.4 मिमी बारिश दर्ज हुई है जो 1964 के बाद से सबसे अधिक और अभी तक की तीसरी सबसे बड़ी बारिश है। साथ ही दिल्ली में सितंबर में हुई बारिश ने 400 मिमी के आंकड़े को भी पार कर लिया है।

Jp YadavThu, 16 Sep 2021 02:31 PM (IST)
Delhi Weather News Update: 1964 के बाद से दिल्ली में दर्ज हुई मानसून की सबसे अधिक बारिश

नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस साल दिल्ली में बृहस्पतिवार दोपहर तक 1159.4 मिमी बारिश दर्ज हुई है, जो 1964 के बाद से सबसे अधिक और अभी तक की तीसरी सबसे बड़ी बारिश है। साथ ही, दिल्ली में सितंबर में हुई बारिश ने 400 मिमी के आंकड़े को भी पार कर लिया है। मालूम हो कि बृहस्पतिवार दोपहर तक 404 मिमी दर्ज की जा चुकी है। सितंबर माह में बारिश का आल टाइम रिकार्ड 1944 में 417.3 मिमी का है। हैरत की बात यह कि 2019 में पूरे मानसून के दौरान ही दिल्ली में 404 मिमी बारिश रिकार्ड हुई थी। विशेषज्ञों का कहना है कि जब तक यह दिल्ली से हटेगा, तब तक यह दिल्ली में अब तक का दूसरा सबसे गर्म मानसून बन सकता है।

दिल्ली में लौट आया है मानसून

आम तौर पर, दिल्ली में मानसून के मौसम में 653.6 मिमी बारिश दर्ज की जाती है। पिछले साल राजधानी में 648.9 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। एक जून से, जब मानसून का मौसम शुरू होता है, 15 सितंबर तक शहर में सामान्य रूप से 614.3 मिमी वर्षा होती है। दिल्ली से मानसून 25 सितंबर तक वापस आ जाता है।

बृहस्पतिवार को हुई है जोरदार बारिश

ठमौसम विभाग के अनुसार, सफदरजंग वेधशाला, जिसे शहर के लिए आधिकारिक मार्कर माना जाता है, पर बृहस्पतिवार दोपहर तक 1159.4 मिमी बारिश दर्ज की गई है। 1975 में 1,155.6 मिमी और 1964 में 1190.9 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। 1933 में मानसून का आल टाइम रिकार्ड 1,420.3 मिमी बारिश का है।

यूं बृहस्पतिवार सुबह मौसम विभाग ने दिल्ली में दिन में मध्यम बारिश के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया था। शुक्रवार को हल्की बारिश की संभावना है। स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया, 23-24 सितंबर तक बारिश जारी रहेगी, जिसका मतलब है कि जब तक यह वापस नहीं आएगा तब तक दिल्ली अपना दूसरा सबसे गर्म मानसून रिकार्ड कर सकती है।

पिछले दो दशकों में यह तीसरी बार है जब दिल्ली में मानसून की बारिश ने 1000 मिमी के निशान को पार किया है। शहर में 2010 में मानसून के मौसम में 1,031.5 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। 2003 में यह आंकड़ा 1,050 मिमी बारिश का था। 2011, 2012, 2013, 2014 और 2015 में क्रमश: 636 मिमी, 544 मिमी, 876 मिमी, 370.8 मिमी और 505.5 मिमी वर्षा हुई। 2016 में 524.7 मिमी बारिश दर्ज की गई, 2017 में 641.3 मिमी, 2018 में 762.6 मिमी, 2019 में 404.3 मिमी और 2020 में 576.5 मिमी दर्ज की गई।

दिल्ली में 77 सालों का भी टूटा रिकार्ड

सितंबर माह मानसून की बारिश के लिए भरपूर रहा है। बृहस्पतिवार दोपहर तक दिल्ली में इस माह 403 मिमी बारिश दर्ज की गई है, जो 77 वर्षों में सबसे अधिक है। सितंबर 1944 में यह आंकड़ा 417.3 मिमी बारिश का था, जो 1901-2021 की अवधि में सबसे अधिक थी।

पिछले महीने लगातार 100 मिमी बारिश

इस साल सितंबर की बारिश पिछले साल की तुलना में काफी विपरीत रही है, जब शहर में सामान्य 129.8 मिमी के मुकाबले महीने में 20.9 मिमी वर्षा हुई थी। दिल्ली में महीने की शुरुआत में लगातार दो दिनों में 100 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई। एक सितंबर को 112.1 मिमी और 2 सितंबर को 117.7 मिमी। शनिवार (11 सितंबर) को 94.7 मिमी वर्षा दर्ज की गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.