जानिए दिल्ली के चेतन कैसे बने युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत, राष्ट्रीय स्तर पर जीत चुके हैं कई पदक

बचपन से खेलों में रुचि रखने वाले चेतन पढ़ाई में भी अव्वल दर्जे पर रहे हैं। खेलों की बात करें तो वह स्कूल खेल प्रतियोगिता में लंबी कूद 100 मीटर स्प्रिंट तारा फाइटर कुश्ती तैराकी जैसे खेलों में पदक हासिल कर चुके हैं।

Mangal YadavSun, 19 Sep 2021 02:24 PM (IST)
19 वर्षीय चेतन वत्स की फाइल फोटोः सौ. स्वंय

नई दिल्ली [शिप्रा सुमन]। अलग-अलग खेलों में रुचि रखने वाले कराला गांव के 19 वर्षीय चेतन वत्स ने अबतक कई पदक जीते हैं। जोन स्तर से लेकर राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीतने वाले इस युवा खिलाड़ी ने गांव के युवाओं को खेल के लिए प्रेरित किया है। वह अलग-अलग खेलों में अव्वल हैं। एक मेधावी छात्र होने के साथ साथ चेतन बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं। वह लंबी कूद, दौड़, तारा फाइटर, कुश्ती और तैराकी के खेल में माहिर है।

ओलिंपिक खेलों में देश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को अपनी प्रेरणा मानकर वह देश के लिए पदक भी लाना चाहते हैं। दिलचस्प बात यह भी है कि उनका सपना भारतीय सेना में अधिकारी बनकर देश की सेवा करने का भी है और इसके लिए वह अपनी पढ़ाई में पूरी मेहनत कर रहे हैं।

खेल में अव्वल और पढ़ने में भी तेज

बचपन से खेलों में रुचि रखने वाले चेतन पढ़ाई में भी अव्वल दर्जे पर रहे हैं। उनके पिता मुकेश वत्स ने बताया कि बारहवीं में 90 फीसदी अंक के साथ उत्तीर्ण हुए हैं। खेलों की बात करें तो वह स्कूल खेल प्रतियोगिता में लंबी कूद, 100 मीटर स्प्रिंट, तारा फाइटर, कुश्ती, तैराकी जैसे खेलों में पदक हासिल कर चुके हैं। रोहिणी के डीएवी स्कूल के छात्र चेतन ने जुडो में अपने कारनामे दिखाए हैं और जूनियर लेवल पर राष्ट्रीय पदक जीतकर विद्यालय का नाम रोशन किया।

एनडीए में हुआ चयन

खेलों में स्वर्ण के सितारे चमकाने के बाद चेतन भारतीय सेना में अधिकारी बनने की तैयारी में है। उनका चयन नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) में हो गया है। वह महाराष्ट्र स्थित खड़कवासला के प्रशिक्षण शिविर का हिस्सा बनेंगे। चेतन के पिता बचपन से उन्हें सेना के जवानों के पराक्रम की कहानियां सुनाया करते थे, और आज वह उस दिशा में अपने पहले कदम रख चुका है।

इसके लिए न केवल उन्होंने पढ़ाई में खूब मेहनत की बल्कि वजन कम करने के लिए पसीना भी बहाया। भारतीय सेना में जाने के जज्बे से प्रेरित होकर चेतन ने अपने 95 किलो के वजन को कड़े व्यायाम से कम 55 किलो किया।

उपलब्धि

स्टेट जूडो खेल प्रतियोगिता 2019 रजत पदक स्टेट कुरास खेल 2019 में रजत पदक वर्ष 2013-14 में स्टेट लेवल जूडो में रजत पदक वर्ष 2017 नेट बाल में रजत मेडल राष्ट्रीय पदक

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.