मणिपुर के एक उग्रवादी संगठन कुकी नेशनल फ्रंट का कमांडर इन चीफ मंगखोलम दिल्ली से गिरफ्तार

मणिपुर पुलिस की सूचना पर उसे रविवार को दबोच लिया गया। इसके खिलाफ मणिपुर के विभिन्न थानों में पुलिसकर्मियों से हथियार छीनने लूटपाट फिरौती के लिए अपहरण फायरिंग रंगदारी डकैती आदि के 40 से ज्यादा मामले दर्ज हैं।

Vinay Kumar TiwariMon, 20 Sep 2021 06:48 PM (IST)
मणिपुर के विभिन्न थानों में दर्ज है 40 से अधिक मामले।

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मणिपुर के प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन कुकी नेशनल फ्रंट के स्वयंभू व कमांडर इन चीफ मंगखोलम किपजेन उर्फ डेविड किपजेन को दिल्ली के द्वारका से गिरफ्तार किया है। मणिपुर पुलिस की सूचना पर उसे रविवार को दबोच लिया गया। इसके खिलाफ मणिपुर के विभिन्न थानों में पुलिसकर्मियों से हथियार छीनने, लूटपाट, फिरौती के लिए अपहरण, फायरिंग, रंगदारी, डकैती आदि के 40 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। कई मामलों में यह वांछित था। मणिपुर में पुलिस का दबाव बढ़ने पर वह छिपने के लिए भागकर दिल्ली आ गया था। यहीं से यह मणिपुर में अपने संगठन को चला रहा था।

डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाहा के मुताबिक मंगखोलम मणिपुर के जिला कंगपोकपी का रहने वाला है। इसके पास मणिपुर में सशस्त्र उग्रवादियों का बड़ा नेटवर्क है। वह इन दिनों मणिपुर में सड़कों व अन्य प्रतिष्ठानों के निर्माण में शामिल एक कंपनी के कर्मचारियों को फिरौती के लिए अपहरण करने की सजिश रच रहा था। 19 सितंबर की सुबह सेल को सूचना मिली कि मणिपुर के एक उग्रवादी संगठन का मुखिया मंगखोलम सेक्टर 7 द्वारका में किसी से मिलने आने वाला है। एसीपी ललित मोहन नेगी, ह्रदय भूषण, इंस्पेक्टर रविन्द्र कुमार त्यागी के नेतृत्व में एस आई सचिन, राज कुमार, उमेश, एएसआइ ओमवीर सिंह, नरेंद्र सिंह, सतेंद्र राणा, हवलदार भूपेंद्र की टीम ने उसे दबोच लिया। पूछताछ से पता चला कि वह सातवीं पास है।

2018 में उसने अपने गांव के की केएनएफ कैडर में आया और फिर बदमाशों के साथ मिलकर रंगदारी, लूटपाट व डकैती आदि आपराधिक वारदात करने लगा। मणिपुर का कुख्यात अपराधी बन जाने के बाद उसने जून 2020 में उग्रवादियों का अपना नया संगठन बना लिया और पुलिस कर्मियों से हथियार छीनने, फिरौती के लिए अपहरण, उगाही आदि संगीन आपराधिक वारदात करने लगा।

12 दिसंबर, 2020 की रात उसने साथियों के साथ मिलकर अत्याधुनिक हथियारों से कांगवई पुलिस चौकी, जिला चुराचांदपुर, मणिपुर के दो संतरियों पर हमला कर अपहरण कर लिया था और उनकी एक सर्विस राइफल इंसास लूट लिया था। उक्त मामले में मणिपुर पुलिस ने इसके 8 साथियो को गिरफ्तार कर लिया था। उनके पास से 6 अवैध हथियार व लूटी गई सरकारी इंसास राइफल बरामद कर लिया गया था। मंगखोलम गिरफ्तारी से बचता रहा था। इसी साल बीते 18 फरवरी को इसने साथियों के साथ मिलकर फिरौती के लिए कालापहाड़, चुराचांदपुर, मणिपुर से एक नेपाली नागरिक टिक्कराम रिजाल का अपहरण कर लिया था। इस मामले में हैपी गांव के हाओपिलुन किपगेन और पश्चिम सेल्सी गांव के लालखोहाओ को गिरफ्तार किया गया । हाओपिलुन किपगेन (20 वर्ष) मंगखोलम किपजेन का छोटा भाई है।

13 सितंबर को कुकी के काला दिवस, 'संहिता नी' के दिन केएनएफ ने राज्य में वाहनों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने और सभी प्रशासनिक कार्यालयों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने की घोषणा की थी। इस समूह ने कांगपोकपी जिले के चम्फाई इलाके में नेशनल हाई 2 के किनारे एक ट्रक की आवाजाही देखी और बंद के आह्वान का उल्लंघन करने पर गोलियां चला दीं। मांगखोलम किपगेन ने प्रेस नोट जारी कर घटना की जिम्मेदारी ली थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.