दूरंतो लूटपाट : यात्रियों ने Online शिकायत में कहा- किराया डायनेमिक और सुरक्षा भगवान भरोसे

दिल्ली, जेएनएन। जम्मूतवी दूरंतो एक्सप्रेस में नकाबपोश हथियारबंद बदमाशों ने बृहस्पतिवार तड़के यात्रियों से लाखों की लूटपाट की। इस घटना के बाद ट्रेन यात्रियों में काफी रोष है। कई यात्रियों ने ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि किराया डायनेमिक और सुरक्षा भगवान भरोसे। यात्रियों ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि कोई यात्री अगर हल्‍ला करने की कोशिश करता था तो उसे चाकू दिखा कर चुप करा दिया जाता था। आइए जानते हैं यात्रियों की जुबानी लूट की कहानी।

ऐसे हुई थी लूटपाट 
यह ट्रेन नरेला स्टेशन से गुजरने के बाद बादली स्टेशन के आउटर सिग्नल के पास बृहस्पतिवार तड़के 3.25 बजे पहुंची ही थी कि अचानक रुक गई। ट्रेन के रुकते ही कोच नंबर बी-3 व बी-7 में चार-पांच नकाबपोश बदमाश घुस गए। कोच में मौजूद यात्रियों को चाकू दिखाकर लूटपाट करने लगे। इससे कोच में मौजूद यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। परिवार व बच्चों के साथ यात्रा कर रहे लोगों की तो सांसें अटक गई।

गले पर चाकू लगा कर मांगा पैसा
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, बदमाशों ने कोच के दरवाजे के पास वाली बर्थ पर परिवार सहित यात्रा कर रहे अशोक पंडित व बसंत भंडारी के गले पर चाकू लगा दिया और दोनों से दो मोबाइल फोन, सोने की दो चेन, कपड़ों के तीन बैग और करीब 20 हजार रुपये नकद आदि लूट लिए।

शोर मचाने पर दिखाते थे चाकू
जैसे ही कोई यात्री शोर मचाता, बदमाश उसे चाकू दिखाकर चुप करा देते थे। बदमाशों ने करीब दस मिनट तक लूटपाट की और इसके बाद ट्रेन से उतरकर भाग गए। बदमाशों के जाने के बाद ही ट्रेन 3.35 बजे रवाना हुई। हालांकि ट्रेन अपने निर्धारित समय पर ही सराय रोहिल्ला स्टेशन पहुंची।

सोता हुआ मिला ट्रेन अटेंडेंट
ट्रेन में सफर कर रहे यात्री अश्विनी कुमार के अनुसार, वारदात के समय न तो आरपीएफ के जवान ट्रेन में थे और न ही कोई स्टाफ ही पहुंचा। घटना के बाद यात्रियों ने ट्रेन में उन्हें खोजना शुरू किया तो करीब 20 मिनट के बाद अटेंडेंट दूसरी बोगी में सोता हुआ मिला।

नदारद थे सुरक्षाकर्मी
अश्‍विनी कुमार ने बताया कि इस घटना की शिकायत रेलवे पोर्टल पर भी की और कहा कि डायनेमिक किराया देने के बाद भी ट्रेन में सुरक्षा इंतजाम नहीं था। ट्रेन में किसी सुरक्षाकर्मी के नहीं मिलने के कारण पीड़ित यात्री सराय रोहिल्ला स्टेशन पर पहुंचने के बाद सुबह 4.40 बजे रेलवे पुलिस को शिकायत दर्ज करा सके। घटना के संबंध में उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि यात्रियों से मिली जानकारी के आधार पर बदमाशों के स्केच तैयार किए गए हैं। इसके आधार पर रेलवे पुलिस की टीम उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है।

यहां हुई थी घटना 
यह घटना दिल्ली-अंबाला रेलखंड पर बादली रेलवे स्टेशन के पास हुई थी। बदमाशों ने बादली स्टेशन के निकट आउटर सिग्नल को खराब कर ट्रेन रोकी और उसमें सवार होकर चाकुओं के बल पर लूटपाट की। इसके बाद बदमाश आराम से ट्रेन से उतर कर फरार हो गए। हैरानी की बात यह है कि राजधानी व शताब्दी जैसी अति महत्वपूर्ण ट्रेनों में शामिल दूरंतो में रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) की तैनाती नहीं थी।

मामला दर्ज कर हो रही छानबीन
उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने भी सुरक्षा बल के नहीं होने की पुष्टि की थी। पीड़ितों के बयान पर सब्जी मंडी रेल थाने में लूटपाट की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। रेलवे पुलिस ने दावा किया है कि बदमाशों के कुछ सुराग हाथ लगे हैं, उन्हें जल्द ही दबोच लिया जाएगा। जानकारी के अनुसार, दूरंतो एक्सप्रेस (12266) शाम 7.25 बजे जम्मूतवी रेलवे स्टेशन से चलकर सुबह 4.20 बजे दिल्ली स्थित सराय रोहिल्ला स्टेशन पहुंचती है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.