Kala Jatheri: 30 कत्ल, सात लाख का इनाम, पांच राज्यों में आतंक, पढ़िए काला जठेड़ी गिरोह की करतूतें

दिल्ली-एनसीआर समेत हरियाणा राजस्थान व पंजाब में यह सबसे उभरता हुआ व बड़ा गिरोह बन चुका है। आतंक का अंजादा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले दस माह में गिरोह के बदमाश दिल्ली राजस्थान पंजाब व हरियाणा में 30 हत्याओं को अंजाम दे चुका है।

Prateek KumarSun, 01 Aug 2021 06:30 AM (IST)
दिल्ली, पंजाब, हरियाणा व राजस्थान में है जठेड़ी गिरोह का आतंक

नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। दिल्ली पुलिस की मोस्ट वांटेड बदमाशों की सूची में नंबर एक पर दर्ज कुख्यात संदीप उर्फ काला जठेड़ी की गिरफ्तारी दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। इसकी गिरफ्तारी पर पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने सेल को शाबाशी दी है। हाल के वर्षों में दिल्ली-एनसीआर समेत हरियाणा, राजस्थान व पंजाब में यह सबसे उभरता हुआ व बड़ा गिरोह बन चुका है। आतंक का अंजादा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले दस माह में गिरोह के बदमाश दिल्ली, राजस्थान, पंजाब व हरियाणा में 30 हत्याओं को अंजाम दे चुका है।

डीसीपी स्पेशल सेल मनीषी चंद्रा के मुताबिक 7 लाख का इनाम जठेड़ी

मूलरूप सोनीपत का रहने वाला है, लेकिन वह कभी अपने घर नहीं जाता था। गिरोह द्वारा उड़ाई अफवाह से पुलिस भी यह मान बैठी थी काला जठेड़ी बैंकाक में रहकर गिरोह चला रहा है लेकिन वह देश में छिपा हुआ था। फरवरी 2020 में फरीदाबाद से पुलिस हिरासत से भागने के बाद वह नेपाल चला गया था। वहां कुछ महीने तक रहने के बाद वापस भारत आ गया और हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, मुंबई, राजस्थान व मध्यप्रदेश में छिपता रहा। पुलिस से बचने के लिए वह लगातार ठिकाने बदलने के अलावा मोबाइल के इस्तेमाल से भी बचता रहा।

एक समय दोस्त थे जेठड़ी एवं सुशील कुमार

पहलवान सागर धनखड़ की पिटाई के दौरान ओलंपियन सुशील पहलवान ने जठेड़ी के भांजे सोनू महाल की भी बेरहमी से पिटाई कर देने पर जठेड़ी ने सुशील को मार डालने की धमकी दी थी। सुशील और काला जठेड़ी पहले दोस्त थे। सुशील, काला जठेड़ी के भाई की शादी में भी गया हुआ था।

मकोका से जेल में रहेगा जेठड़ी

पुलिस को जानकारी मिली है कि जठेड़ी का साथी वीरेंद्र प्रताप उर्फ काला राणा थाईलैंड व दूसरा साथी गोल्डी बरार, कनाडा में छिपा हुआ है। जठेड़ी पर दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार करने से पूर्व मकोका भी लगा दिया है ताकि पकड़े जाने के बाद लंबे समय तक उसे जेल में ही रहना पड़े।

गिरोह में 200 से ज्यादा बदमाश हैं शामिल

जठेड़ी, गैंगस्टर लारेंस विश्नोई का सबसे खास माना जाता है। दोनों मिलकर गिरोह चलाते हैं। इसके गिरोह में 200 से ज्यादा बदमाश शामिल हैं। इसी साल 25 मार्च को जठेड़ी के गुर्गों ने जीटीबी अस्पताल में कुख्यात गैंगस्टर कुलदीप उर्फ फज्जा को पुलिस हिरासत से भगा ले गया था। हालांकि कुछ दिन बाद ही सेल ने बाहरी दिल्ली इलाके में एक फ्लैट के अंदर उसे मार गिराया था।

कोर्ड वर्ड में बात करते थे बदमाश

स्पेशल सेल को महिला डॉन अनुराधा के मोबाइल लोकेशन व नितीश कुमार नाम के बदमाश से पता चला कि काला जठेड़ी एनसीआर में ही रह रहा है। सेल जठेड़ी गिरोह के अंकित,रवि जागसी, राजन जाट, सुमित बिचपडी, अमित और सुधीर मान जैसे बड़े बदमाशों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। जठेड़ी गिरोह के बड़े बदमाश आपस मे कोड वर्ड में बात करते हैं। काला जठेड़ी को अल्फा, काला राणा को टाइगर जबकि गोल्डी बरार को डॉक्टर का नाम दिया गया है। लारेंस विश्नोई के गिरफ्तार हो जाने पर उसके गिरोह की कमान भी अब काला जठेड़ी संभाल रहा था।

यह भी पढ़ेंः 6 अगस्त को केंद्रीय मंत्री और सीएम केजरीवाल देंगे मेट्रो यात्रियों को तोहफा, इन दो लाइनों पर सफर करने वालों को मिलेगी बड़ी राहत

रंगदारी एवं लूट था मुख्य धंधा

जठेड़ी गिरोह का मुख्य धंधा रंगदारी मांगने और बड़ी लूट की वारदात को अंजाम देना है। लारेंस, फिल्म अभिनेता सलमान खान को मारने की धमकी दे चुका है। उक्त मामले में राजस्थान पुलिस ने उसे कई साल पहले गिरफ्तार किया था। कुछ समय पहले तक वह उदयपुर जेल में बंद था अब तिहाड़ में बंद है।

ये भी पढ़ें- Happy Friendship Day: कुमार विश्वास ने किस तरह अलग-अलग अंदाज में दी बधाई, आप भी पढ़िए

ये भी पढ़ें- राकेश टिकैत ने वीडियो जारी कर तिरंगा यात्रा को लेकर हरियाणा के किसानों से की ये खास अपील, आप भी जानें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.