Indian Railways: दिल्ली में रेलवे स्टेशनों पर अब नही मिलेगा प्लेटफॉर्म टिकट, बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक

रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी हैै।

दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए रेलवे ने राजधानी के सभी प्रमुख स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी हैै।

Mangal YadavMon, 19 Apr 2021 08:58 PM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र/जेएनएन। दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए रेलवे ने राजधानी के सभी प्रमुख स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी हैै।  रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक के अनुसार, दिल्ली में लॉकडाउन की वजह से रेलवे स्टेशनों पर भीड़ को देखते हुए प्लेटफ़ॉर्म टिकटों की बिक्री में पर रोक लगा दी गई है। नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, हज़रत निज़ामुद्दीन, आनंद विहार टर्मिनल पर अब प्लेटफ़ॉर्म नहीं मिलेगा।

रेलवे के प्रवक्ता डीजे नारायण ने कहा कि कहा कि पहले से ही चल रही ट्रेनें चलती रहेंगी। पर्याप्त संख्या में ट्रेनें चल रही हैं। इसलिए लोगों को परेशान होनी की जरुरत नही है।

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को रात 10 बजे से 26 अप्रैल लाकडाउन लगाने की घोषणा की है। इसके बाद से रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर भीड़ बढ़ गई है। इनमें से ज्यादातर लोग अलग-अलग वजह से घर जा रहे हैं।

शर्तो के साथ सार्वजनिक परिवहन सेवा जारी रहेगी

लॉकडाउन के दौरान शर्तो के साथ सार्वजनिक परिवहन सेवा जारी रहेगी। हालांकि इनमें यात्रा वही लोग कर सकेंगे, जिनके पास ई-पास होगा या फिर ट्रेन या हवाई जहाज का टिकट होगा। जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ई-पास के माध्यम से आवागमन कर सकेंगे। बीमार लोगों के लिए किसी प्रकार की रोकटोक नहीं होगी।

Pics: आनंद विहार व कौशांबी बस अड्डों पर उमड़ी प्रवासी मजदूरों की भीड़, हैरान कर देने वाली हैं तस्वीरें

निजी बस संचालकों ने प्रवासी कामगारों से वसूला दोगुना किराया

वहीं, राजधानी में लाकडाउन की घोषणा के बाद से ही प्रवासी कामगारों के घर जाने लगे हैं। दक्षिणी दिल्ली के ओखला फेस वन, जैतपुर, मीठापुर और बदरपुर इलाकों से निजी बस संचालक बसों में भर-भरकर प्रवासियों को बिहार व उत्तर प्रदेश छोड़ने के लिए तैयार हो गए हैं। इस दौरान बस संचालक मजदूरों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं। दक्षिणी दिल्ली के ओखला औद्योगिक क्षेत्र में उप्र, बिहार और मध्य प्रदेश के प्रवासी कामगार बड़ी संख्या में रहते हैं। उनको घर आने और जाने के लिए निजी बस संचालक बसों का संचालन करते हैं।

सोमवार को दिल्ली में लाकडाउन का ऐलान होने के बाद से ही बस संचालक सक्रिय हो गए और मनमाना किराया लेकर बसें चलाने लगे। दोपहर बाद से देर शाम तक लोग लाइन लगाकर बसों से जाने के लिए दिखाई दिए। कमोबेश यही हालात जैतपुर, मीठापुर व बदरपुर में भी दिखाई दिए।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.