Indian Railways: रेलवे ने दी यात्रियों को बड़ी राहत, एक्सप्रेस बनकर दौड़ेंगी 150 से ज्यादा पैसेंजर ट्रेनें

पैसेंजर ट्रेन से बड़ी संख्या में दैनिक यात्री भी सफर करते हैं
Publish Date:Wed, 28 Oct 2020 08:05 PM (IST) Author: Mangal Yadav

नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। Indian Railways News: लंबी दूरी तय करने वाले पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस में परिवर्तित करने का फैसला किया गया है। दिल्ली से अलग-अलग शहरों को जोड़ने वाली भी छह पैसेंजर ट्रेनें भी आने वाले दिनों में एक्सप्रेस बनकर चलेंगी। रेल प्रशासन के इस फैसले से रेल यात्री कम समय में सफर कर सकेंगे, लेकिन इसके लिए उन्हें ज्यादा किराया भी देना होगा।

दिल्ली से फिरोजपुर कैंट, कालका, हरिद्वार सहित अन्य कई शहरों के लिए पैसेंजर ट्रेनें चलती हैं। इसमें सफर करने वाले यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में काफी समय लगता है। कई पैसेंजर ट्रेनें दो सौ किलोमीटर की दूरी 10 से 12 घंटे में तय करती हैं। वहीं, एक्सप्रेस ट्रेनें चार से छह घंटे में यह दूरी तय कर लेती हैं। अब रेल प्रशासन ने दो सौ किलोमीटर या इससे ज्यादा दूरी तक चलने वाली कुछ पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस में परिवर्तित करने का फैसला किया है। यह काम चरणबद्ध तरीके से होगा।

Bihar Chunav 2020: चुनाव से पहले बागियों ने बढ़ाई भाजपा की चिंता, पार्टी ने छह नेताओं को किया बाहर

181 ट्रेनों में किया जाएगा बदलाव

फिलहाल देशभर में 181 पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाया जा रहा है। सबसे ज्यादा दक्षिण मध्य रेलवे में 23 ट्रेनें एक्सप्रेस में परिविर्तित हो जाएंगी। उसके बाद उत्तर पश्चिम रेलवे में 22 ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाने की तैयारी है। उत्तर रेलवे में भी लंबी दूरी तय करने वाली दस पैसेंजर ट्रेनें अब एक्सप्रेस बन जाएंगी। नए टाइम टेबल में यह बदलाव देखने को मिलेगा।

अधिकारियों का कहना है कि अभी नियमित ट्रेनों का परिचालन बंद है। कोरोना संक्रमण का प्रकोप खत्म या कम होने के बाद गृह मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद ट्रेनों का नियमित परिचालन शुरू होगा और उससे पहले नया टाइम टेबल भी घोषित हो जाएगा।

KBC-12: अमिताभ बच्चन की फिल्में देखकर केबीसी में पहुंचीं छवि कुमार, पढ़िये- कौन हैं Big B की ये दीवानी

कम समय में पूरा होगा सफर

पैसेंजर ट्रेन से दिल्ली से फिरोजपुर कैंट का सफर 12.25 घंटे में तय होता है। वहीं, इंटरसिटी एक्सप्रेस यह दूरी 7.40 घंटे में तय करती है। इसी तरह से दिल्ली से हरिद्वार पैसेंजर ट्रेन से जाने में 12 घंटे से ज्यादा समय लगता है, जबकि एक्सप्रेस ट्रेनों से यह दूरी चार से आठ घंटे में तय हो जाती है।

दैनिक यात्रियों को होगी परेशानी

पैसेंजर ट्रेन से बड़ी संख्या में दैनिक यात्री भी सफर करते हैं, क्योंकि इनका ठहराव प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर होता है। एक्सप्रेस बनने के बाद इनका ठहराव भी कम होगा।

पैसेंजर से एक्सप्रेस में परिवर्तित होने वाली उत्तर रेलवे की ट्रेनें

दिल्ली-कालका (54303/54304) दिल्ली-ऋषिकेश (54471/54472) दिल्ली-हरिद्वार (54475/54476) दिल्ली-फिरोजपुर कैंट (54641/54642) दिल्ली-अंबाला कैंट एमईएमयू (64561/64562) दिल्ली-कुरुक्षेत्र डीईएमयू (74013/74013) हिसार-अमृतसर (54601/54602) धुरी-बठिंडा (54555/54556) प्रयागराज संगम-बरेली (14307/14308) जिंद-फिरोजपुर कैंट (54045/54046)

अलग-अलग जोन में एक्सप्रेस में परिवर्तित होने वाली पैसेंजर ट्रेनों की संख्या

रेलवे जोन     ट्रेन की संख्या

मध्य रेलवे-      18

पूर्व तटीय रेलवे-3

पूर्व मध्य रेलवे-5

पूर्व रेलवे-6

कोंकण रेलवे-3

उत्तर मध्य रेलवे-3

उत्तर पूर्व रेलवे-3

पूर्व सीमांत रेलवे-10

उत्तर रेलवे-10

उत्तर पश्चिम रेलवे-22

दक्षिण मध्य रेलवे-23

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे-2

दक्षिण पूर्व रेलवे-18

दक्षिण रेलवे-18

दक्षिण पश्चिम रेलवे-16

पश्चिम मध्य रेलवे-5

पश्चिम रेलवे-16

ये भी पढ़ें-दिल्ली-NCR में वायु प्रदूषण रोकने के लिए केंद्र ने बनाया नया कानून, उल्लंघन करने पर 5 साल की सजा व एक करोड़ जुर्माना

Delhi Metro commuters cheer! दिल्ली-NCR के लाखों यात्रियों के लिए खुशखबरी, एक ही कार्ड से कर सकेंगे 2-2 मेट्रो का सफर

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.