Air Pollution 2021: प्रदूषण से परेशान दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोगों को मौसम विभाग ने दी खुशखबरी

Air Pollution 2021 भारतीय मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार रविवार से उत्तर पश्चिमी हवाओं की रफ्तार बढ़ जाएगी और कई दिन तक बढ़ी ही रहेगी। ऐसे में प्रदूषण भी छंटने लगेगा और अगले दो दिन में घटकर खराब या मध्यम श्रेणी में भी आ सकता है।

Jp YadavPublish:Sat, 20 Nov 2021 08:17 AM (IST) Updated:Sat, 20 Nov 2021 11:54 AM (IST)
Air Pollution 2021: प्रदूषण से परेशान दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोगों को मौसम विभाग ने दी खुशखबरी
Air Pollution 2021: प्रदूषण से परेशान दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोगों को मौसम विभाग ने दी खुशखबरी

नई दिल्ली/नोएडा/गुरुग्राम, आनलाइन डेस्क। दीवाली के बाद से दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को लेकर बिगड़े हालात अब तक काबू में नहीं आ सके हैं। यह अलग बात है कि दिल्ली-एनसीआर में तमाम तरह के प्रतिबंधों के साथ स्कूल बंद हैं तो सरकारी कर्मचारियों के वर्क फ्राम होम के लिए कहा गया है। इस बीच देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर के शहरों का वायु गुणवत्ता सूचकांक शनिवरा को भी 'बहुत खराब' श्रेणी में पाया गया है। वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक, राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 355 है। इसके साथ दिल्ली से सटे एनसीआर के शहरों की भी कमोबेश ऐसी ही स्थिति है। 

इस बीच भारतीय मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, रविवार से उत्तर पश्चिमी हवाओं की रफ्तार बढ़ जाएगी और कई दिन तक बढ़ी ही रहेगी। ऐसे में प्रदूषण भी छंटने लगेगा और अगले दो दिन में घटकर खराब या मध्यम श्रेणी में भी आ सकता है। ऐसी स्थिति में वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 से भी नीचे और 200 से ऊपर रह सकता है।

इससे पहले शुक्रवार को भी दिल्ली एनसीआर में वायु गुणवत्ता की बेहद खराब श्रेणी बरकरार रही। सभी जगह का एयर इंडेक्स 300 के पार रहा। शनिवार को भी कमोबेश यही स्थिति बने रहने के आसार हैं। अलबत्ता, हवाओं की रफ्तार बढ़ने पर रविवार से प्रदूषण साफ होने लगेगा।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में मात्र 17 दिन में सैकड़ों वाहन चालकों का कटा करोड़ों रुपये का चालान, आप भी न करें ये गलती

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को एयर इंडेक्स 381 दर्ज किया गया। एनसीआर में फरीदाबाद का 35), गाजियाबाद का 372, ग्रेटर नोएडा का 388, गुरुग्राम का 345 और नोएडा का 385 रहा। पिछले 24 घंटों के दौरान हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने के 1,077 मामले रिकार्ड किए गए। दिल्ली के पीएम 2.5 में पराली के धुएं की हिस्सेदारी सिर्फ तीन प्रतिशत रही। पीएम 2.5 जहां 191 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा वहीं पीएम 10 का स्तर 313 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था।

यह भी पढ़ेंः Kisan Andolan: संयुक्त किसान मोर्चा के नेता ने बताया कब खत्म होगा किसान आंदोलन

कुमार विश्वास ने ट्वीट कर तुरंत लिखी सूचना 'कोई राजनैतिक अर्थ न निकालें' पढ़िये- प्रशंसकों ने क्या कहा

Delhi Metro Commuters Alert ! दिल्ली मेट्रो में सफर करते हैं तो जरूर पढ़ें यह खबर

यह भी पढ़ेंः दिल्ली के चारों बार्डर से आ रही बुरी खबर, संयुक्त किसान मोर्चा उठाने जा रहा ये बड़ा कदम