Coronavirus News Update: दिल्ली में बढ़ी फ्रेश और जैविक सब्जियों की मांग, जानिये- इसके फायदे

जैविक सब्जियों को उगाने में किसी तरह के रसायन का इस्तेमाल नहीं होता।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 10:36 AM (IST) Author: JP Yadav

नई दिल्ली [आशीष गुप्ता]। Coronavirus News Update: कोरोना वायरस संक्रमण ने लोगों के अंदाज-व्यवहार के साथ उनके खानपान को भी बदलकर रख दिया है। लोग अब बेहद सावधानी और सोचसमझकर खाने-पीने का चयन करने लगे हैं।  डॉक्टरों की मानें तो कोरोना वायरस संक्रमण काल में लोग अपनी सेहत को लेकर ज्यादा चिंतित हुए हैं। पॉश इलाकों के लोग खुद को स्वस्थ रखने के लिए विक्रेताओं से जैविक सब्जियों की मांग कर रहे हैं। सब्जी विक्रेता आपूर्ति के लिए गाजीपुर सब्जी मंडी के आढ़तियों से जैविक सब्जियां मांग रहे हैं। उनकी मांग पर कुछ आढ़तियों ने इन सब्जियों की व्यवस्था करनी शुरू कर दी है। वह ऐसे किसानों से संपर्क कर उपलब्धता बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं, जो इस तरह की खेती करते हैं।

इन इलाकों में मांग

जैविक सब्जियां महंगी होती हैं। सूरजमल विहार, विवेक विहार, मधुबन, आइपी एक्सटेंशन, मयूर विहार, स्वास्थ्य विहार समेत कई पॉश इलाकों में रहने वाले लोग जैविक सब्जी के लिए ज्यादा कीमत अदा करने को तैयार हैं। विक्रेताओं की मानें तो इनका भाव सामान्य सब्जियों की तुलना में दो से ढाई गुना तक होता है।

जैविक सब्जियां स्वास्थ्य के लिए बेहतर

जैविक सब्जियों को उगाने में किसी तरह के रसायन का इस्तेमाल नहीं किया जाता। लिहाजा सब्जियों की पौष्टिकता बरकरार रहती है। इनके सेवन से किसी तरह के रोग का खतरा भी नहीं।

जैविक दालों की मांग में इजाफा

सब्जियां ही नहीं जैविक दाल, चावल और अन्य सूखी खाद्य सामग्रियों की मांग भी बढ़ी है। डिपार्टमेंटल स्टोर से पहले चुनिंदा लोग जैविक खाद्य सामग्रियां लेते थे। अब इनकी संख्या में 20 से 30 फीसद का इजाफा हुआ है। आजाद नगर ईस्ट स्थित स्टोर संचालक अमित द्विवेदी ने बताया कि इनकी मांग पहले से बढ़ी है।

विजय सिंह (आढ़ती, गाजीपुर सब्जी मंडी) का कहना है कि  कम मात्रा में जैविक सब्जियां मंगाता हूं। कुछ विक्रेताओं की मांग पर यह सब्जियां मंगवाई जा रही हैं। उनकी मांग की पूर्ति नहीं हो पाती। कुछ किसानों से बात कर आपूर्ति के लिए प्रयास किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण काल में यह मांग हुई है। पहले कोई नहीं मांगता था।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.