आनंद विहार-कौशांबी में आटो से चलने वाले हजारों यात्रियों के लिए जरूरी खबर, होने जा रहा है ये बदलाव

अफसरों ने एनजीटी के आदेश का पालन नहीं किया जिसके बाद एनजीटी ने मेरठ मंडलायुक्त जिलाधिकारी एसएसपी नगर आयुक्त व अन्य अधिकारियों को तलब किया था। अफसरों ने यातायात प्रबंधन लागू करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है।

Prateek KumarMon, 29 Nov 2021 06:15 AM (IST)
कौशांबी से प्रतिदिन दो लाख से ज्यादा वाहनों का आवागमन होता है।

नई दिल्ली/ साहिबाबाद [हसीन शाह]। प्रदूषण को काबू में करने और दिल्ली का सफर आसान करने के लिए नगर निगम यातायात प्रबंधन पर 1.42 करोड़ रुपये खर्च करेगा। जाम की वजह से यहां पर प्रदूषण फैल रहा है। एनजीटी के आदेश पर नगर निगम ने टेंडर जारी कर दिया है। इस रकम से यूटर्न और आटो पार्किंग आदि बनाई जाएगी। वहीं, कौशांबी व आनंद विहार से चलने वाले आटो की संख्या निर्धारित की जाएगी।

एनजीटी में दायर की गई थी याचिका

कौशांबी अपार्टमेंट्स रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (कारवा) की ओर से प्रदूषण को लेकर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) में याचिका दायर की गई थी। एनजीटी ने प्रदूषण से निपटने के लिए कौशांबी में यातायात प्रबंधन प्लान लागू कराने का आदेश दिया था। अफसरों ने एनजीटी के आदेश का पालन नहीं किया, जिसके बाद एनजीटी ने मेरठ मंडलायुक्त, जिलाधिकारी, एसएसपी, नगर आयुक्त व अन्य अधिकारियों को तलब किया था। एनजीटी ने फिर से यातायात प्रबंधन प्लान लागू करने, सीवेज की समस्या का समाधान करने और सड़कों से अतिक्रमण हटाने और पार्किंग की व्यवस्था करने का आदेश दिया। अफसरों ने यातायात प्रबंधन लागू करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है।

सड़क से हटेंगे आटो व डग्गामार बस

कौशांबी से प्रतिदिन दो लाख से ज्यादा वाहनों का आवागमन होता है। यूपी गेट बंद होने के बाद से वाहनों की संख्या बढ़ गई है। जाम के कारण लोगों को मिनटों का सफर घंटों में तय करना पड़ता है। सड़क पर खड़े आटो व डग्गामार बस, अवैध कट, सड़क पर पार्क वाहन आदि की वजह से जाम लगता है। नगर निगम 1. 42 करोड़ से अवैध कट खत्म कर यूटर्न और सड़क के दोनों ओर पार्किंग बनाएगा।

कौशांबी के लिए प्रशासन द्वारा तैयार यातायात प्रबंधन प्लान

- डा. बर्मन रोड पर अवैध कट के स्थान के पर यू-टर्न ।

- पैसिफिक माल के सामने खड़े होने वाले आटो के लिए पार्किंग।

- डा बर्मन रोड पर भारी वाहनों के प्रवेश को बंद करने लिए हाइट बैरियर।

- कौशांबी व आनंद विहार से चलने वाले आटो की संख्या निर्धारित की जाएगी।

- आटो व ई-रिक्शा की संख्या निर्धारित कर कलर कोड दिया जाएगा

- सर्विस रोड पर खड़े हो वाहन चालकों पर कार्रवाई की जाएगी।

- आनंद विहार बार्डर से पुलिस, एमसीडी टोल व प्रीपेड आटो बूथ को हटाया जाएगा।

- कौशांबी की सड़कों से अतिक्रमण हटाया जाएगा, जिससे जाम न लगे।

- कौशांबी डिपो की बसों को डीजल से सीएनजी में परिवर्तित किया जाएगा

पार्किंग बनने से कुछ हद तक जाम खत्म होगा। प्रशासन ने यशोदा अस्पताल व कौशांबी मेट्रो स्टेशन के पास मल्टीलेवल पार्किंग बननी चाहिए।

वीके मित्तल, अध्यक्ष, कारवा

यायायात प्रबंधन लागू करने के लिए 1.42 करोड़ रुपये का टेंडर जारी किया गया है। जल्द से काम शुरू किया जाएगा। अब तक हम कौशांबी में काफी काम करा चुके हैं।

अनिल त्यागी, अधिशासी अभियंता, निर्माण विभाग

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.