शहीद हरि सिंह के पार्थिव शरीर को 10 माह के बेटे ने दी मुखाग्नि, रो पड़ा पूरा हरियाणा

नई दिल्ली/रेवाड़ी, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी हमले में शहीद हुए हरि सिंह का अंतिम संस्कार रेवाड़ी जिले के गांव राजगढ़ में मंगलवार दोपहर हजारों लोगों की मौजूदगी में हुआ। पिता हरि सिंह की चिता को मुखाग्नि उनके 10 महीने के बेटे लक्ष ने दी। यह देेखकर वहां पर मौजूद हजारों लोगों की आंखें भर आईं तो परिवार और गांव के लोग फूट-फूट कर रोने लगे। यहां पर नजारा ऐसा दिखा जैसे पूरा हरिणाया अपने लाल की जुदाई में रो रहा हो। वहीं, 10 साल के बेटे को इस बात का अहसास नहीं है कि उसके सिर से पिता का साया उठ चुका है।

वहीं, भीड़ देखकर जब लक्ष रोने लगा तो अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव ने उसे गोद में उठाकर चुप करवाने का प्रयास किया। यह लम्हा हर किसी को गमगीन कर गया।

इससे पहले पार्थिव शरीर को लेकर पहुंचे वाहन के साथ जुटे लोगों की भीड़ उनके भीतर उबल रहे गुस्से व राष्ट्र प्रेम को भी जाहिर कर रही थी। ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो पूरा रेवाड़ी जिला ही नहीं, बल्कि सीमा से सटे अलवर जिले के लोगों का रुख़ भी राजगढ़ की तरफ हो गया है। यहां आम और खास की दूरियां खत्म हो गई हैं। हर कोई बस श्रद्धा के दो पुष्प अर्पित करने के लिए आतुर दिखा। फिजां में भारत मां के जयकारे गूंज रहे थे और मुखर होकर लोग पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे।

अंत्येष्टि स्थल पर केंद्रीय मंत्री राव इंदरजीत सिंह, विधायक रणधीर कापड़ीवास, युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव चिरंजीव राव, जन स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉक्टर बनवारीलाल, पूर्व मंत्री शकुंतला भगवाड़िया, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद यादव, जननायक जनता पार्टी के श्यामसुंदर सभरवाल, पूर्व विधायक रामेश्वर दयाल व अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। 

इस मौके पर केंद्रीय योजना, रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेना को जरूरी आदेश दे चुके हैं। सीआरपीएफ के जवानों पर हुए हमले का हर स्तर पर बदला लिया जाएगा। भारत सरकार हुर्रियत व अन्य अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले चुकी है। देश में रहकर देश के साथ गद्दारी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्रीय सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय आरक्षित बल व अन्य अर्धसैनिक बलों की भूमिका किसी भी तरह कमतर नहीं आंकी जा सकती। गृह मंत्रालय इनके पेंशन से जुड़े मामले को लेकर गंभीरता से विचार कर रहा है। मैं स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के समक्ष पेंशन बहाल करने की उनकी मांग की पैरवी करूंगा।

शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा, पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद यादव व जिला प्रधान योगेंद्र पालीवाल सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग पहुंचे।

रेवाड़ी के राजगढ़ में प्रवेश करते ही कारगिल के शहीद वेदपाल सिंह चौहान का स्मृति स्थल बना हुआ है। इसी के साथ शहीद हरि सिंह का अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम सलामी देने के लिए सेना की टुकड़ी पहुंची।

गांव के लाडले को अंतिम नमन करने विद्यार्थी भी पहुंचे। गांव खंडोडा स्थित राष्ट्रीय स्कूल के विद्यार्थी शहीद हरि सिंह अमर रहे...वंदे मातरम.. भारत माता की जय... पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए। खंडोडा गांव राजगढ़ से सटा हुआ है।

जिसने सुना वह दौड़ पड़ा शहीद के घर की ओर

श्रीनगर के पुलवामा पिगलीना में आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हुये 55-आरआर बटालियन के सिपाही और जिला के गांव राजगढ़ निवासी सिपाही हरी सिंह स्वभाव से बेहद मिलनसार थे। गांव के लोग व दोस्त भोलू के नाम से जानते थे।

पुलवामा में आतंकवादियों से मुठभेड़ में रेवाड़ी के जवान हरि सिंह की शहादत का समाचार जैसे ही गांव के लोगों को पता चला, वे शहीद के घर की तरफ दौड़ पड़े। देखते ही देखते शहीद के घर के बाहर लोगों का जमावड़ा लग गया। आंखे नम थी लेकिन अपने बेटे की शहादत पर हर किसी को गर्व भी था।

शहीद के चचेरे भाई विजय सिंह ने कहा कि हरि सिंह की शहादत पर पूरे गांव को गर्व है। पड़ोसी देश आए दिन हमला कर रहा है तथा हमारे निदरेष सैनिक शहीद हो रहे है। सरकार को पाकिस्तान की हरकतों पर कड़े कदम उठाने की जरूरत है। सरकार व सेना कोई ऐसा कदम उठाए, जिससे पाकिस्तान और उसके आतंकवादी कभी पलटकर भी ऐसी हरकत दोबारा करने की हिम्मत न जुटा सके।

सीएम ने जताई संवेदना, राव ने ट्वीट कर किया वीरता को नमन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार को 55-आरआर बटालियन के जवान शहीद हरि सिंह व अन्य जवानों की शहादत पर श्रद्धांजलि अर्पित की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस वीरता के साथ भारतीय सैनिक देश के दुश्मनों का सामना कर रहे हैं, उसी भावना के साथ पूरा देश सैनिकों के इस जज्बे को सलाम कर रहा है। उन्होंने शहीद हरिसिंह की शहादत पर संवेदना जताते हुए कहा कि हरियाणा के रणबांकुरों ने जरूरत पड़ने पर हमेशा देश की माटी के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी दी है।

राव इंद्रजीत सिंह ने किया नमन

केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने ट्वीट करके शहीद हरि सिंह को नमन किया है। राव ने ट्विटर पर लिखा है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों का बहादुरी के साथ सामना करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए रेवाड़ी के लाल हरि सिंह की शहादत को नमन करता हूं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.