दिल्ली से सटे गाजियाबाद में कूड़े की आग बुझाने के लिए मेयर को बुलानी पड़ी दमकल की गाड़ियां

दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण के कारण लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है। वहीं दिल्ली से सटे गाजियाबाद में बृहस्पतिवार को खुलेआम आसामाजिक तत्वों ने कूड़ के ढेर में आग लगा दी। इससे लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया।

Pradeep ChauhanThu, 25 Nov 2021 05:52 PM (IST)
कूड़ के ढेर में आग लगने के मामले सामने आने लगे हैं।

नई दिल्ली/ गाजियाबाद, आनलाइन डेस्क। दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण के कारण लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है। वहीं, दिल्ली से सटे गाजियाबाद में बृहस्पतिवार को खुलेआम आसामाजिक तत्वों ने कूड़ के ढेर में आग लगा दी। इससे लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया। स्थानीय निवासियों की शिकायत पर मेयर आशा शर्मा को फोन कर दमकल की गाड़िया बुलानी पड़ी। दिल्ली एनसीआर में दीवाली के बाद से प्रदूषण की समस्या बढ़ रही है।

पिछले दो दिन से स्थिति में कुछ सुधार हुआ है, लेकिन अब कूड़ के ढेर में आग लगने के मामले सामने आने लगे हैं। बृहस्पतिवार को शहर के आईपीएम कॉलेज के पास कूड़ के ढेर में आग लगी हुई थी और राहगीरों को आने-जाने में परेशानी हुई। यहां सब्जी मंडी के पास भी आग लगने से चारों तरफ जहरीला धुआं फैल गया। सीनियर सिटीजन सुभाष पाहवा और शालीमार गार्डन सांझा प्रयास के संयोजक जुगल किशोर ने बताया कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है। दो दिन से कुछ राहत मिली है।

लेकिन अब जगह-जगह कूड़ के ढेर में आग लगाई जा रही है। वहीं, मेयर के पीआरओ मनीष शर्मा ने बताया कि कूड़ के ढेर में आग लगाकर शहर की आवोहवा को खराब करने वाले असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इसके संबंध में मेयर ने नगर आयुक्त को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। इसी तरह दिल्ली के सीमापुरी बार्डर पर भी सुबह के समय कचरे के ढेर में आग लगी हुई थी।

वहीं, शालीमार गार्डन वार्ड 37 के पार्षद सरदार सिंह भाटी ने बताया कि सीमापुरी बार्डर पर आग लगने से विक्रम इंक्लेव, श्रीराम इंक्लेव, भारत माता चौक, गौरी शंकर इंक्लेव और 80 फुटा रोड के आसपास लोगों में तमाम तरह की बीमारियां पनपने लगी है। यहां की समस्या को निगम की बोर्ड बैठक में रखा जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.