Farmer Protests: बॉर्डर पर दिल्‍ली पुलिस ने मंगाए 2000 आंसू गैस के गोले, बढ़ी पुलिसकर्मियों की संख्या, जानें कारण

हर तरह के हालात से निपटने को तैयार है दिल्ली पुलिस।

टीकरी और सिंघु बॉर्डर के आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस भी खासे परेशान हैं। किसान आंदोलन के कारण अब दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगों के जनजीवन पर बुरा असर पड़ने लगा है। इससे लोगों को आक्रोश भी बढ़ने लगा है।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 08:39 PM (IST) Author: Prateek Kumar

नई दिल्ली, राकेश कुमार सिंह। गृह मंत्री के आश्वासन के बाद भी दिल्ली की सीमाओं पर सड़क जाम कर धरने पर बैठे किसान बुराड़ी के निरंकारी मैदान में आने को तैयार नहीं है। इससे टीकरी और सिंघु बॉर्डर के आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस भी खासे परेशान हैं। किसान आंदोलन के कारण  अब दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगों के जनजीवन पर बुरा असर पड़ने लगा है। इससे लोगों को आक्रोश भी बढ़ने लगा है। तमाम पहलुओं को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने हर तरह के हालात से निपटने के लिए सभी सीमाओं पर पुलिस की तैनाती बढ़ा दी है। 

मुख्यालय सूत्रों की मानें तो कड़ी कारवाई करने के लिए पुलिस पूरी तरह तैयार है। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि दिल्ली की कानून व्‍यवस्‍था को किसी सूरत में बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। बार बार पुलिस के आला अधिकारी किसान नेताओं से बात कर उनसे बुराड़ी स्थित निरंकारी मैदान में आने की अपील कर रहे हैं लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं है। बुराड़ी में किसानों को रहने के लिए भव्य इंतजाम किए गए है लेकिन किसान वहां जाने को तैयार नहीं है। जो किसान वहां पहुंचे भी है वो अपने अपने ट्रैक्टर ट्राली में ही रह रहे हैं।  किसी के टेंट में किसान नहीं जा रहे हैं।

किसानों की भीड़ को देखते हुए दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल को भी चौकस रहने को कहा गया है। क्योंकि भीड़ की  आड़ में कोई आतंकी संगठन अपने नापाक इरादे को अंजाम ना दे बैठे। सूत्रों के मुताबिक सीमाओं पर दिल्ली पुलिस के अलावा  23 कंपनी पैरा मिलिट्री की भी तैनाती की गई है। दिल्ली पुलिस ने 2000 आंसू गैस के गोले मंगाए हैं। सीमाओं पर स्थिति ना बिगड़े इसके लिए हर समय वहां डीसीपी स्तर के एक अधिकारी की तैनाती रहेगी। विशेष आयुक्त स्तर के अधिकारी पूरे हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।  

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.