कोरोना वायरस से बड़ा हो गया इसका खौफ, लोगों के सवाल सुनकर विशेषज्ञ भी हैरान हैं

कोरोना वायरस से बड़ा हो गया इसका खौफ, लोगों के सवाल सुनकर विशेषज्ञ भी हैरान हैं

अधिकतर लोगों में कोरोना वायरस से संक्रमित होने का भय सता रहा है। यहां तक कि बहुतों को तो स्वप्न में भी कोरोना के दुष्प्रभाव तनाव दे रहे हैं। अनगिनत लोगों के मन में सवाल चल रहा है कि क्या कभी मौजूदा हालात सामान्य भी हो पाएंगे या नहीं?

Jp YadavMon, 17 May 2021 08:13 AM (IST)

नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। कोरोना वायरस संक्रमण का डर हर किसी के मन में बैठ गया है। लोगों को संक्रमित होने का भय सता रहा है। यहां तक कि बहुतों को तो स्वप्न में भी कोरोना के दुष्प्रभाव तनाव दे रहे हैं। अनगिनत लोगों के मन में यह सवाल भी चल रहा है कि क्या कभी मौजूदा हालात सामान्य भी हो पाएंगे या नहीं? सबसे ज्यादा लोग यही जानना चाह रहे हैं कि आखिर हम सामान्य जिंदगी कब तक जीने की स्थिति में आ पाएंगे?  या फिर आने वाले समय में भी एक के बाद एक कोरोना की लहर आती रहेगी। लोगों के मन से इसी भय को निकालने तथा उन्हें मनोविकार से बचाने के लिए राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (एनबीटी) ने कोरोना हेल्पलाइन शुरू की है। हेल्पलाइन एक हफ्ते पूर्व शुरू की गई है। इस पर लोग अपने सवाल पूछ रहे हैं, जिसका जवाब विशेषज्ञों द्वारा दिया जा रहा है। एक हेल्पलाइन नंबर पर लोग अपनी चिकित्सकीय समस्याओं का समाधान प्राप्त कर रहे हैं, जबकि दूसरे पर अपने मन में चल रही हर प्रकार की उलझन का निदान पा रहे हैं।

एनबीटी का कहना है कि इस महामारी और लॉकडाउन के दौरान लोगों को मानसिक स्तर पर विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ा है। हालांकि भारतीय संस्कृति का अहम हिस्सा रहे परिवार, आपसी भाईचारा, घरेलू खेल जैसे कारकों से लोगों को काफी संबल मिला है। फिर भी सुझाव सामने आया है कि स्थानीय स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक एक ऐसा अभियान चलाया जाए, जिससे कि मानसिक स्तर पर भी लोगों की इम्यूनिटी को बेहतर बनाया जा सके। इसी के मद्देनजर आने वाले दिनों में कुछ वेबिनार भी आयोजित किए जाएंगे और कोरोना जागरूकता से जुड़ी प्रचार सामग्री भी जन साधारण तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा।

हेल्पलाइन नंबर : 8800409846 (सुबह 10 बजे - शाम 4 बजे)

हेल्पलाइन नंबर : 8800409359 (शाम 4 बजे - रात 10 बजे) 

एनबीटी की विशेषज्ञ टीम के सदस्य

डॉ. जितेंद्र नागपाल डॉ. विधुर कौशिक डॉ. नीतू कृष्णन डॉ.हेमलता सूरी डॉ. स्वाति मुखर्जी डॉ. हर्षिता डॉ.कर्नल तरुण उप्पल डॉ. रेखा चौहान डॉ. अपराजिता दीक्षित डॉ. सोनी सिद्धू डॉ. पायल चौधरी डॉ. रुचि छिब्बर

ज्यादातर लोग इन विषयों पर कर रहे पूछताछ

कोविड-19 के बाद की देखभाल, टीकाकरण की चिंता, परीक्षा का तनाव, उदासी, चिंता।

 इस बाबत (युवराज मलिक, निदेशक, एनबीटी) का कहना है कि कोरोना की अगली लहर आने की आशंकाओं के दृष्टिगत लोगों में एक भय देखने को मिल रहा है। समाज का हर वर्ग मनोवैज्ञानिक और सामाजिक स्तर पर विभिन्न परेशानियों से जूझ रहा है। इसी से मुक्ति दिलाने और सही मार्गदर्शन के मकसद से एनबीटी ने कोरोना हेल्पलाइन शुरू की है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.