DSGMC Elections 2021 : नामित सदस्यों के चयन के लिए शुक्रवार को होगी बैठक

दिल्ली के पंजीकृत सिंह सभा गुरुद्वारों के अध्यक्षों के बीच से दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) के दो नामित सदस्य चुने जाएंगे। इनका चयन लाटरी के जरिए किया जाएगा। इसके लिए शुक्रवार को गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय में डीएसजीएमसी के नवनिर्वाचित सदस्यों की बैठक बुलाई गई है।

Prateek KumarFri, 24 Sep 2021 06:10 AM (IST)
पंजीकृत गुरुद्वारा सिंह सभाओं के अध्यक्षों में से दो का चुनाव लाटरी से होगा।

नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। दिल्ली के पंजीकृत सिंह सभा गुरुद्वारों के अध्यक्षों के बीच से दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) के दो नामित सदस्य चुने जाएंगे। इनका चयन लाटरी के जरिए किया जाएगा। इसके लिए शुक्रवार को गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय में डीएसजीएमसी के नवनिर्वाचित सदस्यों की बैठक बुलाई गई है।

इससे पहले नौ सितंबर को नामित सदस्यों के चयन के लिए नवनिर्वाचित सदस्यों की बैठक बुलाई गई थी। उस दिन सबसे पहले निर्वाचित सदस्यों के मतदान से चुने जाने वाले दो सदस्यों के लिए मतदान कराया गया था, उसके बाद गुरुद्वारा सिंह सभा के अध्यक्षों में से नामित सदस्य चुनने की प्रक्रिया शुरू की गई थी, लेकिन कुछ सदस्यों की आपत्ति की वजह से बैठक स्थगित करनी पड़ी थी।

जग आसरा गुरु ओट (जागो) और शिरोमणि अकाली दल दिल्ली (सरना) के निर्वाचित सदस्यों ने गुरुद्वारा सिंह सभा के अध्यक्षों की सूची में गड़बड़ी का आरोप लगाया था। दूसरी ओर शिरोमणि अकाली दल (शिअद बादल) के सदस्य उपलब्ध सूची के आधार पर लाटरी निकालने की मांग कर रहे थे। निदेशक ने सूची की जांच कराने की बात कहकर बैठक स्थगित कर दी थी। बाद में इसी बात को लेकर हंगामा हुआ था। निदेशक ने शिअद बादल के सदस्यों के खिलाफ हमला करने व धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया है।

निदेशालय ने 14 सितंबर को गुरुद्वारा सिंह सभाओं के अध्यक्षों की संशोधित सूची जारी की थी। नई सूची में कुल 280 गुरद्वारों के नाम दर्ज है, जबकि पिछली सूची में यह संख्या 282 थी। नई सूची में 16 गुरुद्वारों के नाम के आगे अध्यक्ष का नाम नहीं लिखा गया है। इसी सूची के आधार पर शुक्रवार को दो सदस्यों का चयन होगा।

इसके साथ ही श्री अकाल तख्त साहिब, तख्त श्री पटना साहिब, तख्त श्री केशगढ़ साहिब तथा तख्त श्री हुजूर साहिब के जत्थेदार डीएसजीएमसी के नामित सदस्य घोषित होंगे। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के एक प्रतिनिधि को भी डीएसजीएमसी का सदस्य घोषित किया जाएगा। एसजीपीसी ने पहले डीएसजीएमसी के निवर्तमान अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा को नामित किया था, लेकिन गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने उन्हें पंजाबी ज्ञान नहीं होने के आधार पर अयोग्य घोषित कर दिया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.