Weather Forecast : दिल्‍ली में अभी नहीं मिलेगी सर्दी से राहत, न्‍यूनतम तापमान 2 डिग्री के करीब

सन 2005 से लेकर अभी तक पहले कभी नहीं रहा इतना कम न्यूनतम तापमान

मंगलवार से दिल्ली में एक बार फिर शीतलहर का दौर तो शुरू हो ही गया यह गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी का दिन भी 17 सालों में सबसे ठंडा दर्ज किया गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी अगले कई दिन शीतलहर का यह दौर जारी रहेगा।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 11:08 PM (IST) Author: Prateek Kumar

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। पहाड़ी राज्यों हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हो रही बर्फबारी के बीच जनवरी के अंतिम सप्ताह में भी दिल्ली में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। आलम यह है कि मंगलवार से दिल्ली में एक बार फिर शीतलहर का दौर तो शुरू हो ही गया, यह गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी का दिन भी 17 सालों में सबसे ठंडा दर्ज किया गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी अगले कई दिन शीतलहर का यह दौर जारी रहेगा।

शाम होते- होते ठंडक में इजाफा हो गया

मंगलवार को यूं तो आसमान साफ रहा, लेकिन ठंडी हवा सुबह से ही चल रही थी। हालांकि सूरज अपने समय पर निकला और दिन भर गुनगुनी धूप भी खिली रही, लेकिन दिल्ली वासियों को ठिठुरन से राहत तब भी नहीं मिली। शाम होते- होते ठंडक में और इजाफा हो गया।

2005 से लेकर सबसे कम न्यूनतम तापमान दर्ज

मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को अधिकतम तापमान सामान्य से 2 डिग्री कम 20.4 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 2.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 46 से 100 फीसद रहा। मालूम हो कि सन 2005 से लेकर अभी तक गणतंत्र दिवस का यह सबसे कम न्यूनतम तापमान था। 2005 में यह 6.8 डिग्री सेल्सियस था।

 गणतंत्र दिवस पर मौसम रहा साफ

जनवरी के आखिरी सप्ताह तक तापमान में बढ़ोतरी होने लगती है। इससे पूर्व 2008 में गणतंत्र दिवस पर न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस रहा था। 2009, 2010, 2014 और 2018 में तो इस दिन घना कोहरा भी छाया था जबकि 2015 और 2017 में बारिश भी हुई थी। लेकिन, इस बार यह लगातार तीसरा साल है जब गणतंत्र दिवस पर मौसम साफ रहा। न बारिश हुई और न ही कोहरे ने ज्यादा परेशान किया। सुबह साढ़े छह बजे पालम पर दृश्यता का स्तर 150 मीटर रहा लेकिन उसके बाद सुधरता गया।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.