दिल्ली से मेरठ जा रहे तो छिजारसी टोल प्लाजा पर हो सकती है परेशानी, जानिए कारण

छिजारसी टोल प्लाजा की पिछले दिनों मासिक पास से जुड़ी आनलाइन रिचार्ज प्रक्रिया में परिवर्तन किया गया। इसके चलते दोबारा से साफ्टवेयर अपडेट किया जा रहा हैं। टोल प्लाजा से नियमानुसार दस हजार से अधिक मासिक पास धारक जुड़े हैं।

Prateek KumarTue, 07 Dec 2021 04:10 PM (IST)
आनलाइन रिचार्ज के दौरान 285 रुपये की जगह चार हजार रुपये से अधिक का रिचार्ज दिखा रहा हैं।

नई दिल्ली/पिलखुवा [संजीव वर्मा]। दिल्ली से मेरठ जाने के रास्ते में पड़ने वाले छिजारसी टोल प्लाजा से जुड़े दस हजार से अधिक मासिक पास धारकों को वर्तमान में परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। फास्टैग के आनलाइन रिचार्ज नहीं होने के कारण परेशान लोग टोल प्लाजा के चक्कर लगाने के मजबूर हैं। आनलाइन रिचार्ज के दौरान 285 रुपये की जगह चार हजार रुपये से अधिक का रिचार्ज दिखा रहा हैं।

आनलाइन रिचार्ज प्रकिया में किया गया है बदलाव

दरअसल, छिजारसी टोल प्लाजा की पिछले दिनों मासिक पास से जुड़ी आनलाइन रिचार्ज प्रक्रिया में परिवर्तन किया गया। इसके चलते दोबारा से साफ्टवेयर अपडेट किया जा रहा हैं। टोल प्लाजा से नियमानुसार दस हजार से अधिक मासिक पास धारक जुड़े हैं। इनमें बड़ी संख्या में लोग नौकरी पेशा वाले हैं। जो प्रतिदिन गाजियाबाद, नोएडा, दिल्ली नौकरी करने जाते हैं।

गाजियाबाद नोएडा और दिल्ली के लोगों को हो रही परेशानी

अधिकतर लोग आनलाइन की मासिक पास को रिचार्ज कर रहे थे। लेकिन, आनलाइन प्रक्रिया में बदलाव होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही है। खास बात यह है कि यदि टोल प्लाजा पर वाहन के साथ पहुंचकर फास्टैग को रिचार्ज किया जा रहा है तो उसे अपडेट होने में लगभग तीस मिनट का समय लग जाता हैं। इससे नौकरी पेशा वाले लोगों को अधिक परेशानी हो रही हैं।

हर दिन लग रही लंबी-लंबी कतार

टोल प्लाजा स्थित फास्टैग रिचार्ज लाइन पर रोजाना लोगों की लंबी-लंबी लाइन लग रही हैं। लोगों का आरोप है कि जब उनका पूर्व में मासिक पास फास्टैग से अटैच है तो रिचार्ज प्रक्रिया बदलने के साथ मासिक पास को सिस्टम में अपडेट किया जाना चाहिए था। इससे मासिक पास धारकों को परेशानी का सामना ना करना पड़ता।

टोल प्रबंधक का कथन

लगभग सभी मासिक पास धारक सिस्टम में अपडेट हो चुके हैं। रिचार्ज प्रक्रिया में बदलाव के चलते मासिक पास धारक को वाहन और निजी पहचान से जुड़े दस्तावेज लेकर एक बार टोल प्लाजा पर आना होगा। इसके बाद उसके फास्टैग की आनलाइन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

अरविंद चौहान, डिप्टी डायरेक्टर, पाथ कंपनी लिमिटेड (टोल कलेक्शन कंपनी)

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.