बहाना बनाकर वैक्सीन लगवाने से नहीं बच पाएंगे दिल्ली पुलिस के जवान, देना होगा सुबूत, सीपी ने मांगा ये पत्र

पुलिस कर्मियों से पुलिस आयुक्त ने शपथ पत्र मांगा है।

तेजी से फैलते संक्रमण के बीच समाज सेवा में जुटी दिल्ली पुलिस के जवान भी काफी तेजी से संक्रमित हो रहे हैं। बृहस्पतिवार को 24 घंटे में 158 कर्मियों के संक्रमित होने के मामले ने महकमे को हिला कर रख दिया।

Vinay Kumar TiwariFri, 07 May 2021 01:31 PM (IST)

नई दिल्ली, [राकेश कुमार सिंह]। कोरोना की दूसरी लहर में तेजी से फैलते संक्रमण के बीच शहर की कानून व्यवस्था बेहतर बनाए रखने के साथ ही समाज सेवा में जुटी दिल्ली पुलिस के जवान भी काफी तेजी से संक्रमित हो रहे हैं। बृहस्पतिवार को 24 घंटे में 158 कर्मियों के संक्रमित होने के मामले ने महकमे को हिला कर रख दिया। टीकाकरण की रिपोर्ट देखने पर 92 फीसद पुलिस कर्मियों ने ही टीका लगवाया है, जबकि आठ फीसद पुलिस कर्मी अभी तक लापरवाह बने हुए हैं। ऐसे पुलिस कर्मियों से पुलिस आयुक्त ने शपथ पत्र मांगा है।

पुलिस आयुक्त ने सभी 15 जिले के डीसीपी और यूनिटों के डीसीपी को मेल भेजकर सख्त लहजे में पूछा कि इन आठ फीसद कर्मियों ने टीका क्यों नहीं लगवाया है। इसे लेकर अलग- अलग तरह की बहानेबाजी सामने आने पर उन्होंने ऐसे पुलिस कर्मियों से शपथ पत्र लेने के लिए कहा है। दरअसल, बृहस्पतिवार को बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों के संक्रमित होने की सूचना पर आयुक्त ने पहले टीकाकरण को लेकर नोडल अधिकारी बनाए गए विशेष आयुक्त मुक्तेश चंद्र से इस संबंध में जानकारी प्राप्त की है। उन्होंने बताया कि बचे हुए पुलिस कर्मी मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हार्ट आदि की वजह से टीका नहीं लगवा रहे हैं।

इस पर नाराजगी जताते हुए पुलिस आयुक्त ने ऐसे कर्मचारियों से शपथ पत्र लेकर विभाग को भेजने के निर्देश दिए। आयुक्त ने कहा कि समाज के एक जिम्मेदार पेशे से जुड़े पुलिस कर्मी अपनी जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। वैक्सीन इस भीषण संक्रमण के बीच ढाल की तरह काम कर रही है।

12,308 पुलिस कर्मी हो चुके संक्रमित

दिल्ली पुलिस के आंकड़े को देखें तो पिछले साल मार्च से अब तक 12,308 पुलिस कर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। 61 कर्मियों की मृत्यु हो चुकी है। पिछले साल 33 कर्मियों की मौत हुई थी। दूसरी लहर में दो महीने के अंदर 28 कर्मियों की मौत हो गई है। पिछले साल संयुक्त आयुक्त और विशेष आयुक्त स्तर के अधिकारी संक्रमित नहीं हुए थे। इस साल कई विशेष आयुक्त, संयुक्त आयुक्त औऱ डीसीपी संक्रमित हो चुके हैं।

दिल्ली के आधे से अधिक थानेदार और इंस्पेक्टर भी संक्रमित हो चुके हैं। इसमें कई पुलिस कर्मी दूसरी बार संक्रमित हुए हैं। वहीं, कुछ पुलिसकर्मी ऐसे भी हैं, जो टीके की दूसरी डोज भी एक महीना पहले ले चुके हैं। संक्रमित हुए कर्मियों में 8,756 ठीक हो गए। पांच मई को 19 कर्मी संक्रमित हुए, लेकिन अगले दिन 24 घंटे में 158 कर्मी संक्रमित होने के मामले ने विभाग को हिलाकर रख दिया। इस वक्त 3,450 कर्मी संक्रमित हैं, जिनमें 41 अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं। बाकी अपने घरों और अन्य जगहों पर आइसोलेशन में हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.