top menutop menutop menu

एक करोड़ रुपये में बेच दिया था लूटा हुआ सोना, क्राइम ब्रांच ने दो आरोपितों को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। चांदनी चौक के ज्वेलर पिता-पुत्र को कार समेत अगवा कर उनसे साढ़े चार किलो सोना व 14 लाख नगदी लूटने के मामले में क्राइम ब्रांच ने दो और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। इनके नाम चिराग जुनेजा व दया राम लाकरा है। इन्होंने हरियाणा के बर्खास्त सिपाही सोमवीर को ज्वेलर के बारे में मुखबिरी की थी। लूटा हुआ सोना बदमाशों ने यूपी व राजस्थान के कुछ ज्वेलर को एक करोड़ रुपये में बेच दिया था।

डीसीपी क्राइम ब्रांच राजेश देव के मुताबिक चिराग जुनेजा (फरीदाबाद सेकटर-11) फार्मेसी से डिप्लोमा कर प्राइवेट फर्म में नौकरी करता था। दया राम (सूरज कुंड, फरीदाबाद) एमबीए किया हुआ है। वह चिरोग के साथ ही काम करता था। इनसे पहले क्राइम ब्रांच ने अजय कुमार (तिलक नगर), पंकज शर्मा (रणहौला), सोमवीर (सुशांत लोक, सेक्टर 57, गुरुग्राम), सुनील (टैगोर गार्डन) व दुर्गा प्रसाद (त्रिलोकपुरी) को गिरफ्तार किया था। पंकज शर्मा, जनकपुरी मेट्रो स्टेशन के पास सिक्योरिटी एजेंसी चलाता है। अजय कुमार उसकी एजेंसी में नौकरी करता था।

सोमवीर हरियाणा पुलिस में सिपाही भर्ती हुआ था। ट्रेनिंग के पश्चात ज्वाइन करने से पहले विभाग को जब पता चला कि उसके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं तब उसे बर्खास्त कर दिया गया। इसके खिलाफ शाहबाद डेयरी में भी चोरी व लूटपाट के केस दर्ज हैं। सुनील, दिल्ली नगर निगम में अस्थायी चालक है। दुर्गा प्रसाद, एक वकील का मुंशी है। छतरपुर में उसने कार्यालय खोल रखा है। वह खुद को लोगों को वकील बताता था। सात आरोपितों के पकड़े जाने के बाद इनकी निशानदेही पर क्राइम ब्रांच अब तक लूटे गए सोना में दो किलो सोना व 35 लाख रुपये नगदी व वारदात में इस्तेमाल स्विफ्ट व सेंट्रो कार बरामद कर ली है। लूटे गए अन्य सोना व रुपये के लिए छापेमारी जारी है।

लक्ष्मी नगर के एक ज्वेलर की चांदनी चौक में दुकान है। 22 जुलाई की दोपहर पिता-पुत्र कार से अपने घर जाने के लिए निकले थे। बेटा ड्राइविंग कर रहा था। राजघाट के पास पहुंचने पर स्विफ्ट व सेंट्रो कार सवार बदमाशों ने ओवर टेक ज्वेलर की कार रोक ली। सोमवीर ने खुद को क्राइम ब्रांच का कर्मी बनकर पिता-पुत्र को आफिस चलने को कहा। एक बदमाश उनकी कार चलाने लगा। सभी इन्हें दरियागंज, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, बुराड़ी में घुमाने के बाद सोना व रुपये लूटकर कार समेत छोड़ दिया। एसीपी संदीप लांबा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पिछले हफ्ते पहले पांच आरोपितों और अब दो अन्य को मंगलवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार कर लिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.