Delhi Air Pollution: दिल्ली-NCR में प्रदूषण के स्तर में सुधार, ठंडी हवाओं से बढ़ेगी सर्दी

नई दिल्ली, एएनआइ/जेएनएन। दिल्ली-एनसीआर में पिछले दिनों से बढ़ते हुए प्रदूषण से परेशान दिल्ली-एनसीआर के लोगों को रविवार को थोड़ी राहत मिली। हवा चलने की वजह से प्रदूषण के स्तर में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई है। हवा चलने की वजह शनिवार को भी लोगों को राहत मिली। दिन भर 18 से 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलती रही और खिली धूप भी निकली। इस कारण एयर इंडेक्स में गिरावट दर्ज की गई।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, दिल्ली के लोधी रोड इलाके में पीएम 2.5 का स्तर 218 और पीएम 10 का स्तर 217 दर्ज किया गया। ये दोनों स्तर खराब श्रेणी में आता है। 

वहीं दिल्ली से सटे गुरुग्राम में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, एनआइएसइ ग्वाल पहाड़ी (NISE Gwal Pahari area) इलाके में हवा की गुणवत्ता का स्तर 301 मापा गया। यह ज्यादा खराब श्रेणी में आता है।

एयर इंडेक्स 101 अंक नीचे गिरा

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के प्रदूषण मॉनीटरिंग स्टेशन के अनुसार एयर इंडेक्स शुक्रवार की तुलना में शनिवार को 101 अंक नीचे गिर गया। इस कारण प्रदूषण का स्तर खतरनाक से बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुआ। दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 357 दर्ज हुआ। इसी तरह एनसीआर के अन्य शहर में भी प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी में ही रहा। फरीदाबाद में 358, गाजियाबाद में 347, गुरुग्राम में 360, नोएडा में 338 और ग्रेटर नोएडा में 309 एयर इंडेक्स दर्ज हुआ। शुक्रवार के दिन इन सभी शहरों में एयर इंडेक्स 400 से ज्यादा दर्ज हुआ था।

वहीं पृथ्वी विज्ञान मंत्रलय के प्रोजेक्ट सफर के अनुसार शनिवार को पीएम 2.5 प्रदूषक कण का स्तर 204 माइक्रो ग्राम क्यूबिक मीटर (एमजीसीएम) दर्ज हुआ। इसका सामान्य स्तर 60 एमजीसीएम होता है। रविवार को हवा की गति बढ़ने के कारण पीएम 2.5 का स्तर 160 एमजीसीएम तक जाने की संभावना है।

कैसे आया मौसम में परिवर्तन

मौसम विभाग के विज्ञानी कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ कुछ दिन पहले आया था अब यह निकल चुका है। इस कारण दिल्ली की तरफ तेज गति से हवा उत्तर की दिशा से पहुंचती है। हवा की तेज गति सोमवार तक जारी रहेगी। रविवार के दिन हवा की गति में और भी बढ़ोतरी होगी और यह बढ़कर 25 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक जा पहुंचेगी। इस कारण प्रदूषण में भी गिरावट होने के संकेत मौसम विभाग ने दिए हैं।

बढ़ने लगी ठंड

मौसम विज्ञानी कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि 11 नवंबर के दिन उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ ने दस्तक दी थी। इसके कारण जम्मू कश्मीर और अन्य पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हुई। उस वक्त दिल्ली का न्यूनतम तापमान 11.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था।

  दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.