दिल्ली हाई कोर्ट ने बढ़ाई घायल कैदी की अंतरिम जमानत

कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दी अंतरिम जमानत।

अधिवक्ता सिद्धार्थ यादव ने दोषी वेद यादव की तरफ से पेश होकर कहा कि वेद यादव 20 जनवरी को हुई घटना में गंभीर रूप से घायल हुआ था और उसकी तीन उंगलियां पूरी तरह से कट गई थीं। उसे डीडीयू अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

Prateek KumarMon, 19 Apr 2021 06:10 AM (IST)

नई दिल्ली [विनीत त्रिपाठी]। कोरोना महामारी को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने हत्या के दोषी एक घायल कैदी की अंतरिम जमानत 20 अप्रैल तक बढ़ा दी है। जेल की फैक्ट्री में काम करते हुए कैदी की तीन उंगलियां कट गई थी। न्यायमूर्ति राजीव सहाय एंडला व न्यायमूर्ति अमित बंसल की पीठ ने कहा कि कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जेल की भीड़ कम करने की जरूरत है, ऐसे में हमारा विचार है कि अंतरिम जमानत को तब तक बढ़ाया जाना चाहिए जब तक मामले को नियमित पीठ द्वारा विचार नहीं किया जाता है।

अधिवक्ता सिद्धार्थ यादव ने दोषी वेद यादव की तरफ से पेश होकर कहा कि वेद यादव 20 जनवरी को हुई घटना में गंभीर रूप से घायल हुआ था और उसकी तीन उंगलियां पूरी तरह से कट गई थीं। उसे डीडीयू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उनकी सजा को 14 अप्रैल तक के लिए निलंबित कर दिया गया था।

वकील ने कहा कि दोषी को दर्द और कमजोरी महसूस हो रही थी, और जेलों में कोरोना महामारी फैलने के कारण उसकी चिकित्सकीय स्थिति खराब हो सकती है। ऐसे में उसकी अंतरिम जमानत को 60 दिनों तक बढ़ाई जाए। वहीं, अभियोजक ने कहा कि अंतरिम जमानत बढ़ाने के लिए दोषी ने कोई कारण नहीं बताया है और उसे आत्मसमर्पण करना चाहिए। दोषी वेद यादव को वर्ष 2012 में एक व्यक्ति हत्या के मामले में दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

हथियार के साथ दो वाहन चोर गिरफ्तार

वहीं, बाहरी उत्तरी जिला स्पेशल स्टाफ ने वाहन चोरी के दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से पिस्टल, कारतूस व चोरी के चार मोटरसाइकिलें बरामद की हैं। दोनों के खिलाफ नरेला औद्योगिक क्षेत्र थाने में आर्म्स एकट के तहत एफआइआर दर्ज कर जांच की जा रही है। बाहरी-उत्तरी जिले के डीसीपी राजीव रंजन सिंह ने बताया कि कुछ दिनों से इलाके में वाहन चोरी की शिकायतें मिल रही थीं। ऐसे में चोरों को दबोचने के लिए स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर आरएस मीणा के नेतृत्व में एसआइ जयवीर, हवलदार नीरज आदि की टीम बनाई गई थी। पुलिस टीम ने टेक्निकल सर्विलांस व मुखबिरों की मदद से चोरों के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की। इसी क्रम में बृहस्पतिवार को सिपाही संजय को सूचना मिली कि वाहन चोरी में शामिल दो बदमाश नरेला औद्योगिक क्षेत्र में आने वाले हैं। इस सूचना के आधार पर पुलिस मौके पर पहुंची और बाइक सवार दोनों बदमाशों को दबोच लिया। तलाशी में उनके पास से पिस्टल मिले। जांच में दोनों की पहचान निशांत व चिराग के रूप में हुई। पुलिस ने इनकी निशानदेही पर तीन और मोटरसाइकिल बरामद कर लिया। चिराग हत्या के एक मामले में भी आरोपित रहा है। दोनों पहले से कई मामले में शामिल रहे है। दोनों ऐशो आराम की जिंदगी के लिए वारदात को अंजाम देते थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.