बाबा साहेब डिजिटल कला महोत्सवः आप भी घर बैठे आसानी से जीत सकते हैं 75 हजार रुपये इनाम, जानिए तरीका

बाबा साहेब डिजिटल कला महोत्सव' की शुरुआत

Ambedkar Jayanti प्रतियोगिताओं में विजेताओं को प्रथम पुरस्कार- ₹ 75000 द्वितीय पुरस्कार- ₹ 50000 तृतीय पुरस्कार- ₹25000 की राशि दी जाएगी। इन प्रतियागिताओं की अधिकतम जानकारी प्रतिभागी दिल्ली सरकार के कला संस्कृति और भाषा विभाग के आधिकारिक वेबसाइट से ले सकते हैं।

Mangal YadavWed, 14 Apr 2021 04:18 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली सरकार ने बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर की 130 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 'बाबा साहेब डिजिटल कला महोत्सव' की शुरुआत की है। इस महोत्सव का उद्देश्य संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर के सपनों के भारत का विज़न साकार करना है और लोगों तक उनके विज़न को पहुंचाना है। दिल्ली सरकार इस महोत्सव के माध्यम से लोगों के बीच बराबरी, जाति उन्मूलन और सामाजिक न्याय का संदेश भेजने चाहती है।

दिल्ली अपनी विभिन्न योजनाओं के द्वारा बाबा साहेब के सपनों को साकार करने की दिशा में काम कर रही है। दिल्ली सरकार द्वारा शुरू किए गए इस महोत्सव को कोरोना के कारण ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा जिसके क्यूरेटर जाने-माने सोशल मीडिया आर्टिस्ट अनुराग माइनस वर्मा होंगे। महोत्सव में कलाकारों को अपनी प्रस्तुति देने और अपनी कला से लोगों को परिचित करवाने के लिए मंच प्रदान किया जाएगा।

महोत्सव में आयोजित होगी कई प्रतियोगिताएं 

महोत्सव में कई प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएगी। इस प्रतियोगिताओं में कविताएं, गीत, रैप, पोस्टर मेकिंग, चित्रकारी, रील(30 सेकेंड की वीडियो) शामिल हैं। प्रतियोगिता की थीम बाबा साहेब के प्रख्यात कथन "नीले आसमान के नीचे हम सब बराबर हैं" पर आधारित है।

प्रतियोगिताओं में विजेताओं को मिलेंगे इनाम

इन सभी श्रेणी की प्रतियोगिताओं में विजेताओं को प्रथम पुरस्कार 75 हजार, द्वितीय पुरस्कार 50 हजार और तृतीय पुरस्कार 25 हजार रुपये की राशि दी जाएगी। इन प्रतियागिताओं की अधिकतम जानकारी प्रतिभागी दिल्ली सरकार के कला, संस्कृति और भाषा विभाग के आधिकारिक वेबसाइट से ले सकते हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार आजादी के 75वें वर्षगांठ पर 75 सप्ताह तक विभिन्न महोत्सवों का आयोजन कर रही है जिसका उद्देश्य दिल्ली के नागरिकों को देशभक्ति से ओतप्रोत करना और भगतसिंह, सुभाषचंद्र बोस, बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर, महात्मा गांधी आदि जैसे हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि देना है। सरकार की इस पहल का लोगो ने स्वागत किया है। 

ये भी पढ़ेंः दिल्ली में एमएसपी से ज्यादा पर बिकी गेहूं की फसल, किसान हुए खुश

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.