दिल्ली में डंक मार रहे यूपी के मच्छर, नगर निगम ने लिखा गौतमबुद्ध नगर व गाजियाबाद के डीएम को पत्र

पूर्वी निगम की अतिरिक्त आयुक्त शिल्पा शिंदे ने उप्र के सीमावर्ती जिलों गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने निवेदन किया है कि राजधानी की सीमा से सटे अपने क्षेत्रों में मच्छरों का प्रजनन रोकने के लिए पूर्वी निगम के सहयोग से सघन अभियान चलाएं।

Mangal YadavSun, 13 Jun 2021 03:22 PM (IST)
दिल्ली में डंक मार रहे यूपी के मच्छर

नई दिल्ली [स्वदेश कुमार]। राजधानी के पूर्व निगम के क्षेत्रों में डेंगू और मलेरिया के कई मामले सामने आ रहे हैं। खासकर उन क्षेत्रों से जो उप्र की सीमा से सटे हुए हैं। ऐसे में पूर्वी निगम का मानना है कि यूपी के मच्छर यहां आकर डंक मार रहे हैं। इसी वजह से मच्छर जनित बीमारियां सामने आ रही हैं। इसे देखते हुए पूर्वी निगम की अतिरिक्त आयुक्त शिल्पा शिंदे ने उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जिलों गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने निवेदन किया है कि राजधानी की सीमा से सटे अपने क्षेत्रों में मच्छरों का प्रजनन रोकने के लिए पूर्वी निगम के सहयोग से सघन अभियान चलाएं।

शिल्पा शिंदे ने अपने पत्र में लिखा है कि उप्र के सीमावर्ती क्षेत्रों से मच्छरों की समस्या सामने आ रही है। पूर्वी निगम के सीमापुरी, दिलशाद गार्डन, गोकलपुरी, विवेक विहार, आनंद विहार, गाजीपुर, दल्लुपुरा और न्यू अशोक नगर आदि क्षेत्र उप्र की सीमा से सटे हुए हैं। इन क्षेत्रों में डेंगू और मलेरिया के मामले सामने आ रहे हैं।

पिछले साल भी इन्हीं क्षेत्रों में अधिक मामले पाए गए थे। इसलिए आशंका है कि मच्छरों का प्रजनन उप्र की सीमा में भी हो रहा है। क्योंकि मच्छर 500 मीटर के दायरे में उड़ान भर सकते हैं। उन्होंने दोनों जिलों के जिलाधिकारियों से संबंधित अधिकारियों को अभियान चलाने के लिए निर्देश देने का आग्रह किया है।

शिल्पा ने पत्र में लिखा है कि इसमें पूर्वी निगम के शाहदरा उत्तरी और दक्षिणी जोन के स्वास्थ्य अधिकारियों की मदद भी ली जा सकती है। दरअसल पूर्वी निगम के स्वास्थ्य अधिकारियों का मानना है कि यहां हर वार्ड में मच्छरों का प्रजनन रोकने के लिए लगातार अभियान चल रहा है। लेकिन सीमावर्ती क्षेत्रों में लगातार मामले सामने आ रहे हैं। यहां के अधिकारी अगर उप्र की सीमा में दवाओं का छिड़काव करने जाते हैं तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ता है। इसी वजह से दोनों जिलों के अधिकारियों को विश्वास में लेकर अभियान चलाने की तैयारी चल रही है।

वर्ष वार मच्छर जनित बीमारियों का आंकड़ा

वर्ष       डेंगू        मलेरिया          चिकनगुनिया

2017   427           54                53

2018   213           42                 04

2019    201          36                15

2020      77          51                 05

2021       05          01              00

(नोट : 2021 के आंकड़े पांच जून तक के हैं)

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.