कांस्टेबल ने युवक का किया अपहरण, पीट-पीटकर कर दी हत्या

अजीत की गुमशुदगी की रिपोर्ट पांडव नगर थाने में दर्ज करवाई थी।जांच शुरू होने पर वीडियो सामने आया। वीडियो में पांडव नगर थाने में तैनात कांस्टेबल मोनू उस युवक को न्यू अशोक नगर में अपनी सफेद रंग की स्फिट कार में जबरन डालकर ले जाता हुआ नजर आ रहा है।

Prateek KumarThu, 29 Jul 2021 04:23 PM (IST)
वीडियो में मारपीट करते हुए युवक ।

नई दिल्ली, शुजाउद्दीन। न्यू अशोक नगर इलाके में रोडरेज के मामले में दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल ने साथियों के साथ मिलकर एक युवक की सरेराह पिटाई की। उसका अपहरण कर लिया। इसके बाद कार में उसकी पीट-पीटकर हत्या करके शव को मोदीनगर में गंग नहर में ठिकाने लगा दिया। चार जून की वारदात में डेढ़ महीने तक अजित के स्वजन थाने के चक्कर काटते रहे, लेकिन पुलिस परिवार को टहलाती रही। कुछ दिन पहले वारदात का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें चार लोग अजित और उसके दोस्त अतुल को पीटते हुए नजर आए ।

दो साथी हुए फरार

पुलिस के हाथ जब वीडियो लगा तो वारदात से पर्दा उठा। पुलिस ने पांडव नगर थाने में तैनात आरोपित कांस्टेबल मोनू सिरोही और लक्ष्मी नगर निवासी उसके दोस्त हरीश को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाकी दो साथी विकास और विनीत अभी फरार हैं। संयुक्त पुलिस आयुक्त सागर प्रीत ने इस मामले में लापरवाही बरतने पर न्यू अशोक नगर के थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार को निलंबित कर दिया है। थानाध्यक्ष के खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी गई है। वहीं, आरोपित मोनू को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। पुलिस को फिलहाल अजित का शव बरामद नहीं हुआ है, पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल मोनू की कार बरामद कर ली है।

 

रात को दोनों दोस्त खा रहे थे आइसक्रीम

पुलिस के अनुसार अजित अपने परिवार के साथ बी-ब्लॉक, न्यू कोंडली में रहते थे। इसके परिवार में मां कृष्णा देवी, भाई अशोक और बहन नीतू है। अजित कोंडली रोड पर ही फल की रेहड़ी लगाते थे। उनकी बहन नीतू ने बताया कि चार जून रात आठ बजे अजित कोंडली रोड से सब्जी खरीदने के लिए गए थे, रास्ते में उन्हें उनका दोस्त अतुल मिल गया। दोनों आइसक्रीम खाने लगे। उसी दाैरान एक कार में सवार चार लोग वहां पहुंचे और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। चारों युवकों ने बुरी तरह दोनों को पीटा, अतुल किसी तरह वहां से भाग गया। डर के मारे उसने किसी को कुछ नहीं बताया।

किसी ने वीडियो को किया वायरल

आरोपितों ने उनके भाई को पकड़े रखा और कार में अपहरण कर ले गए। वारदात का वीडियो घटनास्थल के पास एक मकान में रहने वाले युवक ने अपने फोन से बना लिया। इस बीच सात जून को अतुल से परिवार ने पूछताछ की तो अपहरण का पता चला। इसके बाद परिवार न्यू अशोक नगर थाने के चक्कर काटता रहा, कड़ी मशक्कत के बाद 13 जून को गुमशुदगी की रिपोर्ट ली गई। लेकिन इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई।

वीडियो पर अधिकारियों ने लिया संज्ञान

दो दिन पहले यह वीडियो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के संज्ञान में आ गया। इसके बाद अपहरण का केस दर्ज कर मामले की जांच स्पेशल स्टाफ को सौंपी गई। स्पेशल स्टाफ को वीडियो में कार का नंबर दिखा। यह कार माेनू की थी। इसके बाद मोनू को अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया गया। उससे पूछताछ में पता चला कि अजित की हत्या कर शव को गंगनहर में फेंक दिया गया है। इसके बाद पुलिस ने एफआइआर में हत्या और साजिश रचने की धाराएं जोड़ीं।

कार के सामने आ गए थे युवक

सूत्रों की मानें तो चार जून को मोनू ही कार चला रहा था। कार में सवार चारों आरोपितों ने शराब पी हुई थी। जब वह कार लेकर न्यू कोंडली रोड पर पहुंचा तो उसकी कार के आगे अजित और उसका दोस्त आ गया। गुस्से में मोनू ने उनके साथ गाली गलौज शुरू कर दी। जब युवकों ने विरोध किया तो मोनू और उसके साथियों ने दोनों को जमकर पीटा। वीडियो में दिख रहा है कि आरोपित अजित को सड़क पर लिटाकर बुरी तरह से पीट रहे हैं। अधमरा होने पर उसे खिंचकर कार में डालकर ले जाते हैं। मोनू से पूछताछ में पता चला कि कार में पिटाई के दौरान अजित की मौत हो गई। उसी रात को शव को नहर में फेंक दिया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.