Kisan Andolan: गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे की एक लेन खोली, दिल्ली-यूपी के लोगों को राहत

पश्चिमी यूपी और आसपास जिलों के किसानों से 20 अप्रैल तक यूपी गेट बॉर्डर पर पहुंचने का आह्वान किया है।

Kisan Agitation at Ghazipur border रविवार रात को दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर गाजियाबाद की ओर से जाने वाले रास्ते को खोलने का काम शुरू हुआ जो सुबह तक जारी रहा। इस कड़ी में दिल्ली- मेरठ हाईवे पर लगी बैरिकेडिंग को हटाया गया है।

Jp YadavMon, 19 Apr 2021 07:25 AM (IST)

नई दिल्ली/गाजियाबाद, जागरण न्यूज नेटवर्क। तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली-यूपी के गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते रविवार रात को दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर गाजियाबाद की ओर से जाने वाले रास्ते को खोलने का काम शुरू हो गया है, जो सुबह तक जारी रही। वहीं, दिल्ली- मेरठ हाईवे पर लगी बैरिकेडिंग को हटाया गया है। उधर, किसानों का कहना है कि उनके आह्वान के बाद ही दिल्ली पुलिस इस रास्ते को खोल रही है।

दिल्ली पुलिस ने रविवार देर रात गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे की मेरठ जाने वाली लेन से बैरिकेड हटा दिए। अब लोग आसानी से मेरठ जा सकेंगे। इस एक्सप्रेस वे को 26 जनवरी के उपद्रव के बाद पुलिस ने बंद कर दिया था। लंबे वक्त से इसके बंद होने के कारण लोगों को आवाजाही में दिक्कत हो रही थी। रविवार रात 11:30 बजे दिल्ली पुलिस ने जेसीबी की मदद से एक्सप्रेस वे की एक लेन से बैरिकेड हटाने का काम शुरू किया। उस पर सीमेंट के कई बैरियर भी लगे हुए थे, उनको भी हटाया गया। इस काम में पुलिस को काफी वक्त लगा। हालांकि वीकेंड कर्फ्यू के चलते इस रोड से जाने वाले वाहनों की संख्या काफी कम रही। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी धर्मेद्र मलिक ने भी यह सूचना इंटरनेट मीडिया पर साझा की है।

गौरतलब है कि इससे पहले दिल्ली ने एनएच-नौ की एक लेन को वाहनों की आवाजाही के लिए खोला था। अब दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे की एक लेन खुलने से लोगों को काफी राहत मिलने वाली है।

 

वहीं, इस बाबत भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक की मानें दिल्ली पुलिस की ओर से दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले रास्ते की कुल 3 लेन को खोला गया है। किसानों के आह्वान के बाद ही पुलिस ने यह कदम उठाया है। लोगों को हो रही परेशानी के चलते कई दिनों से किसान प्रशासन से इस रास्ते को खोलने की मांग कर रहे थे। 

उधर, यूपी गेट पर मौजूद गाजीपुर किसान आंदोलन कमेटी के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा का साफ कहना है कि केंद्र सरकार दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन को समाप्त करने की तैयारी कर रही है। ऐसे में भाकियू ने आंदोलनस्थल पर किसानों की संख्या बढ़ाने की तैयारी तेज कर दी है। पदाधिकारियों ने पश्चिमी यूपी और आसपास जिलों के किसानों से 20 अप्रैल तक यूपी गेट बॉर्डर पर पहुंचने का आह्वान किया है।  

वहीं गाजियाबाद में कोरोना संक्रमण के चलते रविवार को लॉकडाउन के दौरान दिनभर पुलिस के अधिकारी पुलिसकर्मियों के साथ सड़कों पर उतरे और कड़ाई से लाकडाउन का पालन कराया। गाजियाबाद पुलिस ने 92 स्थानों पर बैरियर लगाकर वाहनों की चे¨कग की और बेवजह घूमने वालों के चालान किए। हालांकि रविवार को आम लोगों में जागरूकता दिखाई दी और बहुत कम संख्या में लोग सड़कों पर दिखाई दिए। इसके शहर समेत जिले की सड़कें सूनी दिखाई दीं। एसएसपी अमित पाठक रविवार को लाकडाउन के दौरान एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल व एसपी देहात ईरज राजा के साथ सड़कों पर उतरे और ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को सैनिटाइजर, मास्क व कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अन्य सामान वितरित किया। एसएसपी ने पुलिसकर्मियों से अपील की है कि वह अपनी ड्यूटी के साथ अपनी सुरक्षा का भी ख्याल रखें।

बिना मास्क 2134 के हुए चालान

शनिवार को क‌र्फ्यू लगने के बाद बिना मास्क व तय समय से अधिक दुकान खोलने पर पुलिस ने कार्रवाई की। एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने बताया कि बिना मास्क के घूम रहे 2134 लोगों के चालान किए गए। इसके साथ ही धारा 144 का उल्लंघन करने पर चार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.