हर ग्राहक की काढ़ा से करते हैं फ्री सेवा, बढ़ा रहे हैं इम्यूनिटी पॉवर

इन दिनों कोरोनावायरस से बचने के लिए हर कोई अपना इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने के लिए लगा हुआ है। इसी के तहत सूर्य नगर में हर ग्राहक को पहले काढ़ा पिलाया जाता है।

Vinay TiwariSat, 13 Jun 2020 12:56 PM (IST)
हर ग्राहक की काढ़ा से करते हैं फ्री सेवा, बढ़ा रहे हैं इम्यूनिटी पॉवर

गाजियाबाद, जेएनएन। हिंदुस्तान में अतिथि देवो भव की परंपरा है और कोरोनावायरस काल में यह परंपरा और मजबूत करने की आवश्यकता है। इसी सपने को साकार कर रहे हैं रामपुरी मार्केट सूर्या नगर में रेस्टोरेंट चलाने वाले अनमोल खन्ना।

वो अपने आशियाना रेस्टोरेंट में आने वाले प्रत्येक ग्राहक की इसी तरह से सेवा करते हैं। यहां आने वाले हर किसी को सेनिटाइज तो किया ही जाता है, उसका थर्मल स्कैन भी किया जाता है बल्कि उनको शारीरिक रूप से मजबूत बनाने और कोरोनावायरस से लड़ने के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा भी परोसा जा रहा है।

खास बात यह है कि सेवा बिल्कुल नि:शुल्क की जा रही है। रेस्टोरेंट प्रबंधन का मकसद केवल इतना है कि उनके यहाँ आने वाला प्रत्येक ग्राहक निरोगी रहें और वह इस भयावह स्थिति से निपट सके इसके लिए प्रतिदिन यहां पर आने वालों को काढ़ा फ्री परोसा जाता है। इससे ना सिर्फ लोगों की शारीरिक क्षमता और पावर बढ़ रही है बल्कि वह अपनी जुबान के जायके को भी तरोताजा बना रहे हैं। 

रेस्टोरेंट चलाने वाले अनमोल खन्ना बताते हैं कि इसको बनाने के लिए 1.25 लीटर पानी में गिलोय की बेल की शाखा 1 फ़ीट लंबी 6 लोंग, 12 दाने काली मिर्च, 5 ग्राम दालचीनी, 1 बड़ी इलायची, अदरक 5 चाय के बराबर या 2 ग्राम सौंठ, 20 पत्ते तुलसी के, 10 ग्राम हल्दी चूर्ण, 15 पुदीने के पत्ते इन सबको मोटा मोटा कूट कर उबालकर काढ़ा बनाया जाता है और हर ग्राहक को कुछ भी खाने से पहले से सर्व किया जाता है। जब 500 एमएल रह जाये तो आंच से उतारकर यदि आवश्यकता हो तो थोड़ा सा गुड़ या मिश्री डाल दें। मधुमेह के रोगी मीठे का ध्यान रखें। 50-50 एमएल सभी को दिन में 2-2 बार अवश्य पिलाएं। काढ़ा पीने के बाद रेस्टोरेंट में आने वाले खाने के लिए अन्य जो चीजें ऑर्डर करते हैं उनको वो परोसा जाता है।

वो बता रहे हैं कि काढ़ा बनाना भी आसान है, इसकी विधि भी यहां आने वालों को बताई जाती है जिससे यदि वो चाहे तो घर पर जाकर भी उस काढ़े को बना सकते हैं और अपने परिवार के लोगों को पिला सकते हैं। इस काढ़े को छानकर इसमें दोबारा इतना ही पानी मिलाकर फिर से उबाल कर पी सकते हैं। साथी उनकी इस आयुर्वेदिक नुस्खे की आयुर्वेदिक और आयुष मंत्रालय की ओर से भी बार-बार सराहना की जा रही है।

रेस्टोरेंट मैनेजमेंट के इस प्रयास को हर जगह सराहा जा रहा है। अनमोल कहते हैं कि ग्राहक और उनका रिश्ता बहुत पारिवारिक रहता है इसीलिए वह अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य की दीर्घायु और स्वस्थ रहने की कामना के लिए यह कर रहे हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.