रेहड़ी हटाने को कहा तो बुजुर्ग दुकानदार की कर दी पिटाई

बृहस्पतिवार शाम की है घटना जिसमें पुलिस कर रही जांच।

बिंदापुर थाना क्षेत्र में अपनी दुकान के आगे से रेहड़ी हटाने के लिए कहना एक बुजुर्ग पर भारी पड़ गया। आसपास के रेहड़ी वालों ने बुजुर्ग की जमकर पिटाई कर दी और घटना के बाद फरार हो गए। पुलिस ने बुजुर्ग के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है।

Prateek KumarSun, 11 Apr 2021 06:45 AM (IST)

नई दिल्ली [भगवान झा]। बिंदापुर थाना क्षेत्र में अपनी दुकान के आगे से रेहड़ी हटाने के लिए कहना एक बुजुर्ग पर भारी पड़ गया। आसपास के रेहड़ी वालों ने बुजुर्ग की जमकर पिटाई कर दी और घटना के बाद फरार हो गए। पुलिस ने बुजुर्ग के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विकासपुरी निवासी ओम प्रकाश की मिलाप नगर में लोहे के सामान की दुकान है। बृहस्पतिवार शाम को उनकी दुकान के सामने रेहड़ी पर फल बेच रहे शख्स को उन्होंने रेहड़ी हटाने की बात कही। इस बात पर ओम प्रकाश की रेहड़ी वालों से कहासुनी हो गई। इसके बाद रेहड़ी वाले चले गए। कुछ देर बाद वे अपने साथियों के साथ आए और झगड़ा करने लगे। इस दौरान आरोपितों ने ओम प्रकाश की पिटाई कर दी।

पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस बुजुर्ग को लेकर अस्पताल पहुंची। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। आरोपितों की पहचान की कोशिश की जा रही है। जल्द ही इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

सीएनजी भराने के विवाद में एलएलबी छात्र की हत्या

इधर, रोहिणी इलाके में सीएनजी भरवाने के दौरान हुए विवाद में कार सवार बदमाशों ने दो चचेरे भाइयों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिसमें एलएलबी के छात्र अजरुन की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि चचेरा भाई यश गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना के बाद केएन काटजू मार्ग थाना पुलिस एफआइआर दर्ज कर जांच कर रही है।

18 वर्षीय यश भाटी परिवार के साथ खजूरी गांव में रहते हैं। वह रोहिणी सेक्टर 15 स्थित गुरुनानकदेव पालीटेक्निक के छात्र हैं। बताया जाता है कि शुक्रवार की दोपहर यश अपने चचेरे भाई अजरुन के साथ कार से रोहिणी स्थित अपने संस्थान में फीस जमा करने के लिए आए थे। इसके बाद दोनों कार से लौट रहे थे। दोनों सेक्टर-15 स्थित सीएनजी पंप पर कार में गैस भरवाने गए थे। उनकी कार कतार में थी, लेकिन सड़क पर होने की वजह से जाम लग रहा था।

इस पर यश ने अपने आगे खड़ी कार के चालक से वाहन आगे बढ़ाने को कहा तो उनके बीच कहासुनी होने लगी। उस समय कार चालक वहां से चला गया, लेकिन कुछ ही देर में साथियों के साथ वापस आ गया और चालक ने दोनों चचेरे भाइयों पर पिस्टल से फायरिंग शुरू कर दी। हमले में यश को चार गोलियां लगीं। बावजूद इसके उन्होंने कार चलाकर अपने भाई अजरुन को लेकर अंबेडकर अस्पताल पहुंचे और किसी तरह से अस्पताल के कर्मियों को पूरी बात बताई और फिर बेहोश हो गए। डाक्टरों ने अजरुन को मृत घोषित कर दिया। बहरहाल, स्वजन ने यश को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.