top menutop menutop menu

Coronavirus: एम्स के डायरेक्टर ने बताया, देश में क्यों बढ़ रहे कोरोना के केस, दिया बड़ा संकेत

नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश में बढ़ते कोरोना केस के बारे में देश के सबसे बड़े अस्‍पताल एम्‍स के डायरेक्‍टर रणदीप गुलेरिया ने कई कारण बताएं हैं। उन्‍होंने कोरोना के बढ़ते केस के लिए देश की जनसंख्‍या को जिम्‍मेदार बताया है। हालांकि इसके साथ ही उन्‍होंने एक अच्‍छी खबर भी बताई कि देश में कोरोना के केस बढ़ तो रहे हैं मगर इसके रिकवरी रेट भी ज्‍यादा है। वहीं मोरटालिटी रेट (मृत्यु दर) भी कम है।

तेजी से बढ़ रहे मामले

बता दें कि दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या  1 लाख से ज्‍यादा हो चुकी है। वहीं, 3000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। हालांकि यह बात भी सुकून देने वाली है कि यहां मरीजों की एक बड़ी संख्‍या तेजी से रिकवर कर रही है। करीब 90 हजार से ज्‍यादा मरीज ठीक हो चुके हैं।  

14 दिन का लॉकडाउन के लिए दी थी राय

वहीं कुछ दिनों पहले डायरेक्‍टर रणदीप गुलेरिया ने यह भी कहा था कि वायरस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए कम से कम 14 दिन का लॉकडाउन होना चाहिए। बता दें कि दिल्‍ली से सटे यूपी में दो दिनों का लॉकडाउन हुआ था। वहीं यह भी आदेश दिया गया है कि सप्‍ताह के अंत में अब शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहेगा।

दवा का ह्यूमन ट्रायल शुरू

बता दें कि एम्‍स बिहार (पटना) में कोरोना के वैक्‍सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में एक युवक को कोरोना की वैक्‍सीन दी गई है। हालांकि इसके अलावा और छह लोगों पर इसका ट्रायल होगा। यह पहला मौका है जब वैक्‍सीन का ट्रायल शुरू हुआ है। अब आने वाले वक्‍त में यह तय होगा कि यह वैक्‍सील लोगों की जान बचाने में कितनी कारगर होगी। पटना एम्स के एमएस डॉक्‍टर सीएम सिंह ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन हैदराबाद की भारत बायोटेक कंपनी और आईसीएमआर ने बनाई है। इसी का पटना एम्स समेत देश के 12 अन्‍य जगहों पर ट्रायल होगा, जो सबसे पहले पटना एम्स में शुरू हुआ है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.