कोरोना के बाद अब घरों में लगाए जा रहे शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार पौधे, जानिए क्या-क्या है उनके नाम

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका के बीच दिल्ली वासी औषधीय पौधों की ढाल भी तैयार कर रहे हैं। पिछले एक पखवाड़े के दौरान लोगों ने अपने घर आंगन में ऐसे हजारों पौधे रोपे हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं।

Vinay Kumar TiwariMon, 21 Jun 2021 01:46 PM (IST)
इस बार वन विभाग ने औषधीय पौधों के गुणों और उपयोग पर एक बुकलेट भी कराई है तैयार

नई दिल्ली, संजीव गुप्ता। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका के बीच दिल्ली वासी औषधीय पौधों की ढाल भी तैयार कर रहे हैं। पिछले एक पखवाड़े के दौरान लोगों ने अपने घर आंगन में ऐसे हजारों पौधे रोपे हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं। सबसे ज्यादा जामुन, अर्जुन, आंवला, नीम और तुलसी के पौधे लगाए गए हैं।राजधानी में दिल्ली सरकार की 14 नर्सरियां हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस (पांच जून) के अवसर पर वन एवं पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने सालाना पौधारोपण अभियान की शुरुआत करते हुए कोरोना से जंग को मजबूती देने के लिए गत वर्ष की भांति इस साल भी औषधीय पौधों के मुफ्त वितरण की घोषणा की थी। मालूम हो कि इन नर्सरियों में लोगों को 13 प्रकार के औषधीय पौधे उपलब्ध कराए गए हैं। इनमें से एक सहजन को छोड़ दें तो सभी पौधों के प्रति लोगों की खासी दिलचस्पी देखने को मिल रही है। खास बात यह है कि इस साल वन विभाग ने इन पौधों को लेकर एक बुकलेट भी तैयार कराई है, जो इस बाबत जनजागरूकता के लिए खासी उपयोगी है।

113 प्रकार के औषधीय पौधे

कढ़ी पत्ता, नीम, आंवला, अर्जुन, सहजन, बेलपत्र, नींबू, तुलसी एलोवेरा, बहेड़ा, जामुन, तुलसी और गिलोय।

इस साल 33 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य

दिल्ली सरकार ने पौधारोपण अभियान में इस साल 33 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है। लगभग 18 लाख पौधे सरकार के अलग-अलग विभागों की तरफ से लगाए जाएंगे। इनमें वन विभाग, पीडब्ल्यूडी, डीटीसी, शिक्षा, डीएसआइआइडीसी और जल बोर्ड आदि विभाग शामिल हैं।

छह लाख पौधे डीडीए की तरफ से दिल्ली में लगाए जाएंगे। एनडीएमसी द्वारा पांच लाख और तीनों एमसीडी द्वारा मिलकर तीन लाख 30 हजार पौधे लगाए जाएंगे। इसके अलावा, मेट्रो, सीपीडब्ल्यूडी, नादर्न रेलवे, एनडीपीएल, दिल्ली कैंटोनमेंट बोर्ड, बीएसईएस आदि के माध्यम से भी पौधे लगाए जाएंगे।

पौधों के गुण ही नहीं, उपयोग भी बताती बुकलेट

वन विभाग द्वारा तैयार की गई 20 पृष्ठों की बुकलेट 'इम्युनिटी बू¨स्टग प्लांट स्पशीज' औषधीय पौधों के गुण ही नहीं, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में उसका उपयोग भी बताती है। इसके अलावा इसमें इन पौधों को बेहतर ढंग से विकसित करने के टिप्स भी दिए गए हैं।

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में औषधीय पौधों और जड़ी बूटियों का बहुत बड़ा रोल हो सकता है। इसीलिए दिल्ली सरकार ऐसे पौधों का मुफ्त वितरण कर रही है। इस अभियान का नाम भी एक पौधा जिंदगी के नाम रखा है। सरकार दिल्ली के नागरिकों के साथ मिलकर इस अभियान को एक जन आंदोलन के रूप में चलाएगी और सफल बनाएगी।

-गोपाल राय, वन एवं पर्यावरण मंत्री, दिल्ली सरकार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.