Delhi Fire News : पश्चिमी दिल्ली में जूते के गोदाम में लगी आग, 6 श्रमिक लापता

आग ने पूरी इमारत को चपेट में ले लिया। मौके पर वहां मौजूद श्रमिकों ने घटना की जानकारी अग्निशमन विभाग को दी। कुछ श्रमिक इमारत से निकलने में कामयाब रहे तो कुछ ने छलांग लगाकर अपनी जान बचाई। लेकिन इस दौरान छह श्रमिक फैक्ट्री के अंदर ही फंसे रह गए।

Jp YadavTue, 22 Jun 2021 09:53 AM (IST)
Delhi Fire News : पश्चिमी दिल्ली में जूते के गोदाम में लगी आग, 6 श्रमिक लापता

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। पश्चिमी दिल्ली उद्योग नगर औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक जूते के गोदाम में सोमवार सुबह अचानक आग लग गई। आग ने देखते ही देखते पूरी इमारत को चपेट में ले लिया। मौके पर वहां मौजूद श्रमिकों ने घटना की जानकारी अग्निशमन विभाग को दी। कुछ श्रमिक इमारत से निकलने में कामयाब रहे तो कुछ ने छलांग लगाकर अपनी जान बचाई। लेकिन, इस दौरान छह श्रमिक फैक्ट्री के अंदर ही फंसे रह गए। आग लगने की सूचना पर पुलिस, एनडीआरएफ व अग्निशमन विभाग के कर्मचारी पहुंचे। दमकल की 35 गाडि़यों से आग पर लगभग पांच घंटे में काबू पाया गया। आशंका है कि इमारत में शमसाद, अभिषेक, नीरज, अजय, सोनू व विक्रम शामिल हैं। इनमें सोनू व विक्रम सगे भाई हैं। दोनों भाई उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के बरदा थाने के छेकमा गांव के निवासी हैं। बाकी श्रमिक दिल्ली के ही रहने वाले हैं। आग पर काबू करने व कुछ हिस्से में कूलिंग के बाद दमकलकर्मियों ने तलाशी अभियान चलाया, जहां उन्हें कोई नहीं मिला। देर रात तक इमारत के अन्य हिस्सों में श्रमिकों की खोज का काम जारी था। आग कैसे लगी, अभी इस बात का पता नहीं चल सका है।

वहीं, पुलिस ने गोदाम मालिक पंकज गर्ग के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है, फिलहाल वह फरार है। उद्योग नगर के जे ब्लाक स्थित गोदाम में आग लगने की सूचना सुबह 8. 53 बजे मिली। यहां भूतल, प्रथम व द्वितीय तल पर बने गोदाम में ऑनलाइन शॉपिंग साइट के लिए जूते व चप्पल की पैकिंग की जाती है। जिस वक्त गोदाम में आग लगी, करीब दस मजदूर इमारत के अंदर मौजूद थे। जिसमें से आग लगते ही चार लोग बाहर निकल गए। सूचना मिलते ही दमकल की 15 गाडि़यां मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग की भयावहता को देखते हुए यहां 20 और गाड़ियां बुलाई गईं। इधर गोदाम में रबर, प्लास्टिक और पैकिंग का सामान होने की वजह से आग तेजी से फैली। करीब दो बजे तक आग पर काबू पाया गया। इसके बाद कूलिंग का कार्य शुरू हुआ ताकि इमारत के भीतर फंसे लोगों की तलाश की जा सके। भूतल व पहली मंजिल पर तलाशी के दौरान कोई नहीं मिला। ऐसे में अब आशंका है कि दूसरी मंजिल पर लोग फंसे होंगे। 

नहीं लिया था एनओसी

अग्निशमन विभाग का कहना है कि जिस इमारत में गोदाम बना हुआ था, उसके लिए विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) नहीं लिया गया था। वहीं नगर निगम ने भी इमारत को खतरनाक घोषित कर दिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.