कौन बनेगा महापौर, आज होगा फैसला

जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली : पूर्वी दिल्ली नगर निगम का महापौर कौन बनेगा, इस बारे में अभी कु

JagranSun, 15 Apr 2018 10:56 PM (IST)
कौन बनेगा महापौर, आज होगा फैसला

जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली :

पूर्वी दिल्ली नगर निगम का महापौर कौन बनेगा, इस बारे में अभी कुछ तय ही नहीं हुआ है, क्योंकि अब तक किसी ने नामांकन दाखिल नहीं किया है। सोमवार को नामांकन की आखिरी तारीख है। निगम में भाजपा सत्ता में है जिससे भाजपा का जो भी प्रत्याशी नामांकन दाखिल करेगा वही महापौर बनेगा। पार्टी ने अब तक किसी का नाम तय नहीं किया है। इसको लेकर कई बार बैठक हो चुकी है और कई नामों पर चर्चा की गई है, लेकिन किसी एक नाम पर सहमति नहीं हो पाई है। इससे लग रहा है कि राष्ट्रीय नेताओं के हस्तक्षेप के बाद नामांकन के आखिरी दिन और आखिरी समय में नाम तय किया जाएगा।

निगम के पांच साल के कार्यकाल में पहले साल महापौर की सीट महिला और तीसरे साल अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित रहती है। दूसरे साल सीट सामान्य होती है, जिसमें किसी को भी महापौर बनाया जा सकता है। इस बार कुछ नामों को लेकर पार्टी में विशेष तौर पर चर्चा हुई है। इसमें निर्मल जैन, बिपिन बिहारी ¨सह, संजय गोयल और राजकुमार बल्लन शामिल हैं। इन नामों पर शुरू से चर्चा थी, लेकिन कुछ दिनों से तीन और नाम चर्चा में आए हैं, जिसमें प्रमोद गुप्ता, कंचन महेश्वरी और संदीप कपूर शामिल हैं। प्रदेश स्तर पर इन पार्षदों की प्रशासनिक क्षमता से लेकर इनके किए कार्य और निगम की बैठकों में इनकी ओर से उठाए गए मुद्दों के आधार पर इनकी क्षमता देखी गई है। भाजपा के प्रदेश नेताओं की राय है कि किसी ऐसे पार्षद को महापौर बनाया जाए जो परिपक्व हो और उसकी राजनीतिक समझ के साथ प्रशासनिक क्षमता भी हो। इसके अलावा अधिकारियों से तालमेल कर निगम की बेहतरी के लिए कार्य करने वाला हो। इन्हीं कसौटी पर कसकर पार्षदों का आकलन किया जा रहा है, जिससे परिपक्व पार्षद के हाथों में निगम की कमान सौंपी जा सके। हालांकि कई बार बड़े नेताओं से नजदीकी उनके चयन की वजह बनती है। अब यह देखना होगा कि सोमवार को किसे महापौर का ताज सौंपा जाता है। आमतौर पर निगम में परंपरा रही है कि नामांकन के आखिरी दिन और नामांकन के अंतिम समय से एक से आधे घंटे पहले प्रत्याशी की घोषणा की जाती है।

उपमहापौर व स्थायी समिति के तीन सदस्य भी नामांकन दाखिल करेंगे

महापौर के चयन के साथ ही उपमहापौर व स्थायी समिति के तीन सदस्यों के लिए भी सोमवार को नामांकन दाखिल होगा। उप महापौर के साथ ही स्थायी समिति सदस्यों का पद भी निगम में महत्वपूर्ण होता है। निगम में अहम निर्णय स्थायी समिति में लिए जाते हैं। इस निर्णय में सदस्यों की अहम भूमिका होती है। स्थायी समिति में आठ सदस्य होते हैं। हर साल आधे सदस्य हटा दिए जाते हैं। इस बार चौथे सदस्य का चयन जोन की समिति से होगा।

भाजपा पार्षदों की सुबह 11 बजे बैठक होगी

पार्टी की ओर से किसी भी पार्षद का चयन इन पदों के लिए किया जा सकता है। पूर्वी निगम के 64 पार्षदों में से 47 भाजपा से हैं। इन सभी पार्षदों की सोमवार 11 बजे से बैठक होगी। नेता सदन संतोष पाल की ओर से सभी पार्षदों को इसके लिए निर्देश दे दिए गए हैं। जब तक नामांकन के लिए नाम तय नहीं हो जाते तब तक सभी पार्षद निगम मुख्यालय में ही रहेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.