ग्रेटर कैलाश- 2 में बरातघर के खिलाफ मोमबत्तियां जलाकर प्रदर्शन

ग्रेटर कैलाश- 2 में बरातघर के खिलाफ मोमबत्तियां जलाकर प्रदर्शन
Publish Date:Wed, 28 Oct 2020 08:39 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, दक्षिणी दिल्ली : ग्रेटर कैलाश-2 के उदय शंकर पार्क में बनी इमारत में एमसीडी द्वारा बनाए जा रहे बारातघर के विरोध में स्थानीय लोगों ने मोमबत्तियां जलाकर प्रदर्शन किया। इस दौरान स्थानीय विधायक सौरभ भारद्वाज और चेतन शर्मा भी पहुंचे और लोगों के विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया।

लोगों का कहना है कि इस पार्क में बारातघर बनाना सही नहीं है। इसकी जगह पर लॉन या क्लब हाउस और रिक्रिएशन सेंटर बनाया जा सकता है। जीके- 2 आरडब्ल्यूए के पूर्व सचिव जतिन्द्र माथुर ने बताया कि 25 अक्टूबर को ई-प्रोटेस्ट के दौरान लगातार विरोध प्रदर्शन की योजना बनाई गई थी। इसी क्रम में कैंडल मार्च का आयोजन किया जाना था, लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल के चलते पुलिस ने मार्च निकालने में शारीरिक दूरी के पालन पर शंका जाहिर की थी जिसके बाद स्थानीय आरडब्ल्यूए ने मोमबत्तियां जलाकर विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया। कार्यक्रम में पूर्व निगम पार्षद वीरेन्द्र कसाना, अशोक, विशाल ओहरी, शिखर तलवार, एसएस कालरा, केएस लांबा इत्यादि लोग मौजूद रहे। ऑनलाइन प्रोटेस्ट में 96 फीसदी लोगों ने दिया समर्थन

जतिन्द्र माथुर ने बताया कि ग्रेटर कैलाश 2, 3 के बहुसंख्य लोग इस बारातघर के खिलाफ हैं। उन्होंने बताया कि ई- प्रोटेस्ट के दौरान किए गए ऑनलाइन पोल में 433 लोगों ने सहभागिता की थी, जिसमें 96 फीसदी लोगों ने बारातघर के खिलाफ अपना मत दिया था। लोगों का कहना है कि उदय शंकर पार्क के पास की रोड तीन बड़ी कॉलोनियों को आपस में जोड़ती है, ऐसे में यहां बारात घर बनाए जाने पर सड़कों पर जाम और अतिक्रमण की समस्या स्थायी रूप ले लेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.