पुजारा मुंबई टेस्ट की दूसरी पारी में शुभमन गिल की जगह क्यों आए ओपनिंग करने, सामने आई सच्चाई

गिल ने मुंबई टेस्ट मैच की पहली पारी में 44 रन बनाए थे। हालांकि उनकी जगह दूसरी पारी में ओपनिंग करने आए पुजारा ने मयंक का काफी अच्छा साथ दिया और दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर टीम इंडिया ने बिना कोई विकेट खोए 69 रन बना लिए थे।

Sanjay SavernSat, 04 Dec 2021 07:58 PM (IST)
भारतीय टेस्ट टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज पुजारा (एपी फोटो)

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाज शुभमन गिल मुंबई टेस्ट मैच की पहली पारी में न्यूजीलैंड के खिलाफ कोहनी की चोट से जूझ रहे थे। इसकी वजह से वो दूसरी पारी में मयंक अग्रवाल के साथ पारी की शुरुआत करने नहीं उतरे। उनकी जगह पुजारा को प्रमोट करके मयंक के साथ पारी की शुरुआत करने दूसरी पारी में भेजा गया। गिल को न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी के 19वें ओवर में चोट लगी थी और ये ओवर जयंत यादव फेंक रहे थे। 

दरअसल गिल उस वक्त शार्ट मिडविकेट पर फील्डिंग कर रहे थे काइल जैमीसन का एक शाट उनकी तरफ आया। गिल ने कैच पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वो सफल नहीं हो पाए और अपनी कोहनी में चोट खा बैठे। इसके बाद वो मैदान छोड़कर वापस चले गए और उनकी जगह पर फिर सूर्यकुमार यादव ने फील्डिंग की। बीसीसीआइ ने भी उनकी चोट पर अपडेट देते हुए ट्वीट किया कि गिल पहली पारी में अपनी दाहिनी कोहनी में चोट खा बैठे थे और वो पूरी तरह से रिकवर नहीं हो पाए हैं। उनकी इंजरी को ध्यान में रखते हुए उन्हें मैदान पर नहीं उतारा गया। 

गिल ने मुंबई टेस्ट मैच की पहली पारी में 44 रन बनाए थे। हालांकि उनकी जगह दूसरी पारी में ओपनिंग करने आए पुजारा ने मयंक का काफी अच्छा साथ दिया और दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर टीम इंडिया ने बिना कोई विकेट खोए 69 रन बना लिए थे। दूसरे दिन पुजारा जब पवेलियन लौटे तब वो 29 रन पर जबकि मयंक 38 रन पर नाबाद थे। दोनों के बीच हुए 69 रन की नाबाद साझेदारी के दम पर टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच के दूसरे दिन विरोधी टीम पर 332 रन की बड़ी बढ़त हासिल कर ली थी। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.