तालिबान ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को दिया आफर, कहा- अफगानिस्तान आकर खेलो वनडे सीरीज

अफगानिस्तान की तालिबानी सरकार ने पाकिस्तान को आफर दिया है कि उनको हमारे यहां आकर क्रिकेट खेलनी चाहिए। वहीं एसीबी के नए चीफ बांग्लादेश यूएई के अलावा भारत दौरा करने वाले हैं जिसकी शुरुआत वे पाकिस्तान से कर रहे हैं।

Vikash GaurFri, 24 Sep 2021 11:26 AM (IST)
तालिबान ने पाकिस्तान को न्योता दिया है

नई दिल्ली, एएफपी। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को न्यूजीलैंड के बाद इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने भी झटका दिया था और पाकिस्तान में सीरीज खेलने से इन्कार कर दिया था। इससे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को काफी नुकसान हुआ, लेकिन अफगानिस्तान की तालिबानी सत्ता ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को एक आफर दिया है। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए मुखिया अजिजुल्लाह फाजली ने कहा है कि हम पाकिस्तान की मेजबानी करना चाहते हैं।

एएफपी के अनुसार अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष अजीजुल्लाह फाजली, जिन्हें हाल ही में नियुक्त किया गया था, उन्होंने कहा कि वह एकदिवसीय मैचों के लिए टीम को आमंत्रित करने के लिए पाकिस्तान का दौरा करेंगे। अफगानिस्तान पिछले कुछ वर्षों में राशिद खान जैसे सितारों के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तेजी से बढ़ा है, लेकिन तालिबान के देश पर कब्जा करने के बाद टीम का बहिष्कार करने का आह्वान किया गया है।

अफगानिस्तान की तालिबानी सरकार के अब तक के उठाए गए कदमों के कारण आने वाले समय में टेस्ट मैच में अफगानिस्तान की भागीदारी पर प्रश्नचिह्न खड़ा हो गया है। आइसीसी के नियमों के अनुसार, एक सक्रिय महिला टीम की भी आवश्यकता है, लेकिन तालिबान ने महिला क्रिकेट पर रोक लगा दी है। तालिबान ने अभी तक महिलाओं के खेल खेलने पर नीति जारी नहीं की है, लेकिन एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि यह जरूरी नहीं है।

वहीं, एसीबी के नए चीफ बने फाजली ने ऐसे विषयों से परहेज किया और कहा कि उनकी अन्य क्षेत्रीय क्रिकेट शक्तियों का दौरा करने की योजना है। उन्होंने कहा, "मैं 25 सितंबर से पाकिस्तान का दौरा कर रहा हूं और फिर क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों से मिलने भारत, बांग्लादेश और संयुक्त अरब अमीरात जाऊंगा। हम अफगानिस्तान क्रिकेट में सुधार करना चाहते हैं, ताकि अन्य देशों के सहयोग से इसमें सुधार हो सके।"

आस्ट्रेलिया पहले ही अफगानिस्तान के खिलाफ नवंबर में ब्रिस्बेन में खेले जाने वाले एक टेस्ट मैच को रद करने की धमकी दे चुका है और कहा है कि जब तक कि तालिबान महिलाओं को क्रिकेट खेलने की अनुमति नहीं देता। हम उनकी मेजबानी नहीं करेंगे। हामिद शिनवारी को तालिबान ने 21 सितंबर को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी के पद से बर्खास्त कर दिया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.