Ind vs SA: तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया की निगाहें दक्षिण अफ्रीका की क्लीन स्वीप पर

रांची। Ind vs SA Rachi test match 2019: भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) शनिवार से जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट में जेएससीए स्टेडियम में उतरेगी तो सभी की निगाहें सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल पर होंगी। पहले दो टेस्ट में शतक लगाने वाले कर्नाटक के ओपनर मयंक के पास अब इस सीरीज में शतकों की हैट्रिक लगाने का मौका है। अगर वह ऐसा करते हैं तो विजय हजारे, सुनील गावस्कर, विनोद कांबली, विराट कोहली के बाद लगातार तीन टेस्ट में तीन शतक लगाने वाले वाले पांचवें भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे। मयंक ने विशाखापत्तम में पहले टेस्ट की पहली पारी में 215 जबकि पुणे में दूसरे टेस्ट में पहली पारी में 108 रन बनाए थे।

रोहित, मयंक व कोहली का खूब चला है बल्ला

सीरीज में अब तक रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल व विराट कोहली ने अच्छी बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़े हैं जबकि जडेजा ने मध्य क्रम में उपयोगी पारियां खेली हैं। पहली बार भारतीय पारी का आगाज करने वाले रोहित शर्मा ने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़ा जबकि मयंक अग्रवाल ने दोनों टेस्ट में शतकीय पारी खेलकर यह बता दिया कि यह जोड़ी टेस्ट के लिए भारतीय पारी की शुरुआत करने के लिए सही है। पुणे में कोहली ने 254 रन की जादुई पारी खेली जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। रोहित पुणे में नहीं चल पाए थे और वह इसकी भरपाई यहां करना चाहेंगे जबकि अब तक सीरीज में दो अर्धशतक लगाने वाले चेतेश्वर पुजारा तिहरे अंक तक पहुंचने की कोशिश करेंगे।

क्लीन स्वीप का बेहतरीन मौका

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2-0 से सीरीज में अजेय बढ़त हासिल कर चुकी भारतीय टीम रांची में भी कोई ढील देने के मूड में नहीं है। विराट कोहली ने शुक्रवार को जिस तरह अभ्यास कर खिलाडि़यों के साथ बातचीत की उससे यह स्पष्ट हो गया है कि वह जीत से कम कुछ नहीं चाहते। सीरीज के लिए यह टेस्ट भले ही औपचारिक लग रहा है लेकिन इसमें विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिए महत्वपूर्ण अंक दांव पर लगे होंगे इसलिए कोहली की टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस अंतिम मैच में भी किसी तरह की कसर नहीं छोड़ेगी। इस मैच में जीत दर्ज करने वाली टीम को 40 अंक मिलेंगे। विश्व चैंपियनशिप में भारत के अभी दो सीरीज के चार मैचों के बाद 200 अंक हैं और उसने अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी न्यूजीलैंड और श्रीलंका पर 140 अंकों की बड़ी बढ़त बना रखी है। कोहली पहले ही बता चुके हैं कि अंतिम टेस्ट मैच में भी काफी कुछ दांव पर लगा है और उनकी टीम किसी भी तरह से ढिलाई नहीं बरतेगी।

कोहली के पास स्मिथ को पछाड़ने का मौका

भारतीय कप्तान के पास एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्मिथ को पछाड़ने का मौका होगा। टेस्ट रैंकिंग में स्मिथ से मात्र एक अंक से भारतीय कप्तान पीछे हैं। रांची में बड़ी पारी खेल कोहली एक बार फिर शीर्ष पर पहुंच जाएंगे। स्मिथ के 937 अंक हैं जबकि कोहली के 936 अंक हैं। वैसे भी इस सीरीज में भारतीय बल्लेबाजों का दबदबा रहा है। अब तक हुए दो टेस्ट मैचों में भारत ने केवल 16 विकेट गंवाए। मेहमान टीम के गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों पर दबाव बनाने में सफल नहीं रहे हैं।

गेंदबाजों का दमदार प्रदर्शन

सीरीज में भारतीय गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मेहमान टीम को दबाव में रखा है। तेज व स्पिन गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन कर टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। तीसरे टेस्ट में टॉस की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को लाभ मिलेगा। तीसरे दिन से पिच के टर्न लेने की संभावना है। अब तक टॉस ने भी भारत का साथ दिया और अगर अंतिम टेस्ट मैच में सिक्का फाफ डुप्लेसिस का साथ देता है तो चीजें थोड़ा रोमांचक हो सकती हैं।

अफ्रीकी बल्लेबाजों को दिखाना होगा दम

दक्षिण अफ्रीका टीम को अगर तीसरे टेस्ट में बेहतर परिणाम चाहिए तो उसे एक टीम के रूप में बेहतर प्रदर्शन करना होगा। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने विशाखापत्तनम में कुछ दम दिखाया था लेकिन पुणे में वे नाकाम रहे थे। केवल पुछल्ले बल्लेबाजों ने ही भारतीय गेंदबाजों को कुछ परेशान किया। डुप्लेसिस ने चोटी के बल्लेबाजों डीन एल्गर, क्विंटन डिकॉक और तेंबा बावुमा जैसे अनुभवी बल्लेबाजों से जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी करने के लिए कहा है। वैसे एडेन मार्करैम के चोटिल होने के कारण बाहर होने से दक्षिण अफ्रीका की परेशानियां बढ़ी हैं। गेंदबाजी की बात करें तो कैगिसो रबादा, वर्नोन फिलेंडर और एनरिक नॉर्टजे अब तक भारतीय तेज गेंदबाजों की तरह प्रभावी नहीं रहे हैं। उसके सीनियर स्पिनर केशव महाराज भी इस मैच में नहीं खेल पाएंगे और ऐसे में दक्षिण अफ्रीकी आक्रमण के लिए भारतीय बल्लेबाजों को रोकना मुश्किल होगा।

टीमें इस प्रकार हैं :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप कप्तान), हनुमा विहारी, रिद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, शाहबाज नदीम, मुहम्मद शमी, उमेश यादव, इशांत शर्मा, रिषभ पंत, शुभमन गिल।

दक्षिण अफ्रीका : फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), तेंबा बावुमा (उप कप्तान), क्विंटन डिकॉक, डीन एल्गर, जुबैर हमजा, जॉर्ज लिंडे, सेनुरन मुथुस्वामी, लुंगी नगिदी, एनरिकनॉर्टजे, वर्नोन फिलेंडर, डेन पीट, कैगिसो रबादा, थेनिस व रूडी सेकंड।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.