अगर एक साथ खेलें ये दो भारतीय खिलाड़ी तो देते हैं जीत की गारंटी, आंकड़े हैं गवाह

भारतीय टीम को 18 जून से साउथैंप्टन में आइसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलना है। इससे पहले प्लेइंग इलेवन चुनने को लेकर असमंजस जारी है लेकिन आंकड़े कुछ और ही गवाही देते हैं।

Vikash GaurThu, 17 Jun 2021 09:12 AM (IST)
टीम इंडिया के लिए जीत की गारंटी है अश्विन-जडेजा की जोड़ी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली, जेएनएन। ICC World Test Championship के फाइनल के लिए 24 खिलाड़ी इंग्लैंड गए, जहां साउथैंप्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून से महामुकाबला खेला जाना है। इनमें से 20 खिलाड़ी भारतीय टीम का हिस्सा थे, जबकि 4 खिलाड़ी रिजर्व प्लेयर्स के तौर पर इंग्लैंड गए थे, लेकिन आइसीसी के नियमों के कारण सिर्फ 15 खिलाड़ियों में से ही प्लेइंग इलेवन का चयन होना था। ऐसे में दोनों टीमों को अपनी-अपनी 15-15 सदस्यीय टीम का चयन करना पड़ा, लेकिन 15 सदस्यीय टीम में से भी प्लेइंग इलेवन का चुनाव करना भारतीय मैनेजमेंट के लिए मुश्किलों भरा रहने वाला है।

भारतीय टीम मैनेजमेंट चाहता है कि तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को प्लेइंग इलेवन में मौका मिले, लेकिन आंकड़े ये कहते हैं कि जब दो भारतीय स्पिनर एक साथ मैदान पर उतरते हैं तो फिर भारतीय टीम के लिए वे लगभग जीत की गारंटी होते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं आर अश्विन और रवींद्र जडेजा की, जिनके आंकड़े साथ में खेलते हुए लाजबाव हैं। अश्विन और जडेजा का साथ खेलना भारत के लिए टेस्ट प्रारूप में लगभग जीत की गारंटी होती है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि दोनों के साथ खेलते हुए भारतीय टीम लगभग 77 फीसदी मैच जीतती है।

भारत के लिए अश्विन और जडेजा की जोड़ी ने कुल 39 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें से 30 मैचों में भारतीय टीम को जीत मिली है। वहीं, सिर्फ दो टेस्ट मैच भारत ने हारे हैं, जबकि सात मैच बेनतीजा रहे हैं। भारत का जीत प्रतिशत दोनों के साथ खेलते हुए 76.92 का है। यही वजह है कि इनका साथ खेलना भारत के लिए जीत की गारंटी होता है। ऐसे में कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट चाहेगा कि आर अश्विन और रवींद्र जडेजा की जोड़ी को फिर से मैदान पर उतारा जाए और आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ फतेह हासिल की जाए।

अश्विन और जडेजा को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखना इसलिए भी भारतीय टीम के लिए मुफीद नहीं होगा, क्योंकि वे गेंदबाजी के साथ-साथ बल्ले से भी विपक्षी टीम पर हल्ला बोलने में कामयाब हो रहे हैं। ऐसे में बड़े मौके के लिए इन दोनों बड़े खिलाडियों का साथ खेलना भारतीय टीम के लिए फायदे का सौदा हो सकता है। इन दो स्पिनरों के अलावा भारतीय टीम तीन तेज गेंदबाज खिलाए, जिनमें वे मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और अनुभवी इशांत शर्मा को शामिल कर सकते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.