मिताली राज ने रचा इतिहास, इस मामले में बनीं दुनिया की पहली महिला खिलाड़ी

भारतीय महिला वनडे टीम की कप्तान मिताली राज ने इतिहास रच दिया है। वो महिला क्रिकेट में सबसे पहले 20 हजार रन बनाने वाली खिलाड़ी बनी हैं। उन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मैच में ये उपलब्धि हासिल की।

Vikash GaurWed, 22 Sep 2021 08:48 AM (IST)
Mithali Raj ने इतिहास रचा है (फोटो BCCI Women ट्विटर)

मैके, पीटीआइ। भारत की अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज ने मंगलवार को यहां आस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैच में इतिहास रच दिया। वह अपने करियर में 20,000 रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गईं। उन्होंने यह उपलब्धि प्रथम श्रेणी, लिस्ट-ए, टी-20 और अंतरराष्ट्रीय मैचों के तीनों प्रारूपों में रन बनाकर हासिल की है। हालांकि टीम के निराशाजनक प्रदर्शन के कारण भारत को आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में नौ विकेट से करारी शिकस्त मिली।

आस्ट्रेलिया ने टास जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। भारतीय टीम ने नियमित अंतराल में विकेट गंवाए और आठ विकेट पर 225 रन ही बना सकी। आस्ट्रेलिया ने 41 ओवर में एक विकेट पर 227 रन बनाकर जीत दर्ज की। आस्ट्रेलिया की जीत में तेज गेंदबाज डार्सी ब्राउन (4/33) तथा सलामी बल्लेबाज एलिसा हीली (77 रन), राचेल हेंस (नाबाद 93) और कप्तान मेग लैनिंग (नाबाद 53) की पारियों ने अहम साझेदारी निभाई। ब्राउन को मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया।

भारतीय पारी फिर से कप्तान मिताली राज के इर्द-गिर्द घूमती रही, लेकिन वह फिर से अपेक्षित तेजी से रन नहीं बना सकीं। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरीं मिताली ने 107 गेंदों पर 61 रन बनाए। उनके अलावा अपना पहला वनडे खेल रहीं यास्तिका भाटिया (35) और रिचा घोष (नाबाद 32) ही उपयोगी योगदान दे पाई। अगर घोष और अनुभवी झूलन गोस्वामी (20) ने आठवें विकेट के लिए 45 रन की साझेदारी नहीं निभाई होती तो भारत 220 रन तक भी नहीं पहुंच पाता। बल्लेबाजी को मजबूत करने के लिए तानिया भाटिया की जगह घोष को टीम में लिया गया।

जवाब में आस्ट्रेलिया की दिग्गज बल्लेबाजों के सामने बड़ा लक्ष्य नहीं था। हेंस और हीली ने पहले विकेट के लिए केवल 21.2 ओवर में 126 रन जोड़कर अपनी टीम की बड़ी जीत सुनिश्चित कर दी थी। लेग स्पिनर पूनम यादव (1/58) ने हीली को मिड आफ पर कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी, लेकिन इससे विशेष असर नहीं पड़ा। विकेटकीपर बल्लेबाज हीली ने आउट होने से पहले अपना 13वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए। हीली और हेंस ने अपनी पारियों के दौरान वनडे में 2000 रन भी पूरे किए। हीली के आउट होने के बाद हेंस और लैनिंग ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली तथा दूसरे विकेट के लिए 101 रन की साझेदारी की। इन दोनों ने इस बीच अपना 16वां अर्धशतक पूरा किया हेंस और हीली ने सात-सात चौके लगाए। दूसरा वनडे 24 सितंबर को खेला जाएगा।

भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज ने हार को लेकर कहा, "कई बार आपकी योजनाएं काम नहीं करती हैं। हमें अपनी गेंदबाजी विभाग में काफी सुधार करने की जरूरत है। हम मुख्य रूप से अपनी स्पिनरों पर आश्रित हैं, लेकिन जब उनके खिलाफ आसानी से रन बन रहे हैं तो हमें इसमें कुछ बदलाव करने की जरूरत है। मैं कितने भी रन बना लूं, सुधार की गुंजाइश हमेशा रहती है। मेरे लिए बल्लेबाजी परिस्थितियों के मुताबिक खेलने के बारे में है, स्ट्राइक रेट के बारे में नहीं।"

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.